मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। भाजपा पूर्व प्रदेश मंत्री और झालावाड प्रभारी छगन माहुर ने राज्य सरकार पर आरोप लगाया है कि सरकार एसीबी द्वारा कि गयी कार्यवाही में ट्रेप कार्मिको को बचाने में लगी हुई है तथा भ्रष्टाचार के आरोपित को महत्वपूर्ण पदों पर पदस्थापित कर रही है। उन्होने कहा कि हाल में मेडिकल काॅलेज के पूर्व चिकित्सक महेन्द्र त्रिपाठी और उनके चार साथियों पर एसीबी ने भ्रष्टाचार और गबन के मामले दर्ज किये है। लेकिन 2 दिन पहले ही डाॅ. त्रिपाठी को सरकार ने सम्मानित करते हुए बून्दी जिले का मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बना दिया है, जो की जिले का एक महत्वूपर्ण पद होता है। राज्य सरकार भ्रष्टाचार के आरोपितों को और अधिक शक्तियां देकर सम्मानित कर रही है जो बेहद चिन्ताजनक है।

माहुर ने आरोप लगाया की एसीबी द्वारा जिन जिन कर्मचारियों को ट्रेप किया जा रहा है। राज्य सरकार इन आरोपित कर्मचारीयों पर अभियोजन की स्वीकृति नही दे रही है। अभियोजन स्वीकृति के कई मामले सरकार के पास लम्बित है। उन्होंने कहा कि गहलोत सरकार भ्रष्ट कार्मिको को न केवल सरंक्षण दे रही है। बल्कि उनको महत्वपूर्ण पदों पर पदस्थापित कर भ्रष्टाचार को बढाने मे लगी हुई है। उन्होने इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री गहलोत को पत्र लिखकर पूरे मामले की जानकारी दी है कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा विभाग दलालों और भ्रष्ट लोगो द्वारा संचालित हो रहा है।