जयपुर में लुटेरी दुल्हन का मामला फिर सामने आया है दलालों ने महाराष्ट्र से शादी का झांसा देकर युवती बुलाई थी। युवक ने दुल्हन पसंद कर 1.80 लाख रुपए दे दिए और पांच सौ रुपए के स्टांप पर पूरी लिखापढ़ी की 20 जून को मंदिर में सात फेरों से पहले 19 जून को दुल्हन बालकनी से चुन्नी बांध कर फरार हो गई। सुबह दुल्हन नहीं मिली तो युवक ने बगरू थाने में लुटेरी दुल्हन के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। मामले की जांच एएसआई रणसिंह कर रहे है।राजेश शर्मा पुत्र ओमप्रकाश शर्मा ने रिपोर्ट दर्ज कराई है। वह निजी कंपनी में नौकरी करता है। उसकी काफी समय से शादी नहीं हो रही थी। उसे दो महीने पहले गणेश नारायण शर्मा मिला। उसे कहा कि तुम्हारी काफी दिनों से शादी नहीं हाे रही है। महाराष्ट्र में ब्राह्मणों की लड़की मिल जाएगी। उनसे तुम्हारी शादी करवा दूंगा। उसने घर पर पहुंच कर परिजनों से बात की। शादी की बात सुनकर परिजन राजी हो गए। परिजनों के शादी की बात पर राजी होने पर गणेश शर्मा, विक्की शर्मा, मोहम्मद नजीर वकील उनसे आकर मिले। उनके बीच में शादी की बात हो गई।