Mumbai: बॉलीवुड में ट्रेजडी किंग के नाम से मशहूर रहे दिलीप कुमार (98) का अब से डेढ़ घंटे पूर्व मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में निधन हो गया । वह काफी समय से बीमार चल रहे थे उनके निधन की पुष्टि उनका उपचार करें डॉक्टर पार्कर ने की।

11 दिसंबर 1922 को ब्रिटिश इंडिया के पेशावर जो (अब पाकिस्तान में है) मैं जन्मे दिलीप कुमार का असली नाम मोहम्मद यूसुफ खान था। युसूफ खान ने अपनी पढ़ाई नासिक में की थी राज कपूर उनके बचपन में ही दोस्त बन गए थे मानो वहीं से दिलीप कुमार का सफर बॉलीवुड में शुरू हो और यही से मोहम्मद युसूफ खान से वह दिलीप कुमार बन गए। करीब 22 साल की उम्र में ही दिलीप कुमार को पहली फिल्म मिल गई थी 1944 में उन्होंने फिल्म ज्वार भाटा में काम किया था लेकिन उनकी इस फिल्म अधिक चर्चा नहीं हो पाई थी।

दिलीप कुमार ने करीब 5 दशक के कैरियर में 60 से अधिक फिल्में की थी दिलीप कुमार ने अपने कैरियर में कई फिल्मों को ठुकरा दिया था क्योंकि दिलीप कुमार का मानना था कि फिल्म में कम हो लेकिन बेहतर हो ।

ज्वार भाटा से अपने फिल्मी कैरियर का शुरुआत करने वाले दिलीप कुमार की कुछ यादगार फिल्मों में शहीद, मेला, नदिया के पार ,बाबुल, फुटपाथ, देवदास ,नया दौर ,मुग़ल-ए-आज़म, गंगा जमुना ,राम और श्याम, कर्मा दिलीप कुमार की आखिरी फिल्म 1998 आई थी जिसका नाम था किला

दिलीप कुमार को भारत सरकार द्वारा कई अवार्ड से सम्मानित किया गया दिलीप कुमार को पद्म विभूषण दादासाहेब फालके अवॉर्ड पदम भूषण से नवाजा गया दिलीप कुमार 2000 से 2006 तक राज्यसभा सांसद भी रहे पाकिस्तान ने भी दिलीप कुमार को अपने सर्वोच्च नागरिक अवार्ड से नवाजा था। दिलीप कुमार के निधन से बॉलीवुड में शोक की लहर छा गई है

saira 3848250 m
Capture 11