एसएमएस अस्पताल में सामने आई बड़ी लापरवाही, दो शव आपस में बदले, जमकर हुआ हंगामा…

0
27
sms jaipur

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क।  राजस्थान के सबसे बड़े सवाई मानसिंह अस्पताल यानी जयपुर के एसएमएस अस्पताल से बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। मंगलवार को अस्पताल की मोर्चरी में दो शवों की अदला बदली हो गई और शव परिजनों को भी दे दिए गए। एक मृत के दुखी परिजन बिना शव को देखे ही लेकर चले गए लेकिन जब दूसरे परिजनों ने मृत की शिनाख्त की तो पता चला कि यह उनके परिचित का शव नहीं है जिसके बाद अस्पताल की मोर्चरी पर जमकर हंगामा हुआ। पूरे मामले का पता चलने पर शव को बिना देखे लेकर चले गए परिजनों को बुलाया गया और उन्हें पूरे मामले के बारे में बताया गया तो अस्पताल की इस लापरवाही पर उनका भी गुस्सा फूट पड़ा। परिजनों को बड़ी मुश्किल से शांत करवाया गया और उन्हें दूसरा शव देकर भेजा गया।

दरअसल, फागी तहसील के जयपाल पुरा निवासी बाबूलाल की सोमवार देर रात एसएमएस अस्पताल में मौत हो गई थी। मृत के परिजन सुबह ही मोर्चरी पर शव लेने पहुंच गए लेकिन उन्हें घंटों इंतजार कराने के बाद भी दोपहर तक उनको शव नहीं सौंपा गया। जिसके बाद परिजनों ने मोर्चरी के बाहर हंगामा करना शुरू कर दिया बाबूलाल का शव बताकर एक शव सौंप दिया गया। उनमें से एक परिजन ने बॉडी की शिनाख्त की तो पता चला कि वह बाबूलाल का शव नहीं है इस पर अन्य परिजनों ने भी शव देखकर सहमति जताई। मामला सामने आते ही मोर्चरी के बाहर हंगामा शुरू हो गया। आनन-फानन में इसकी जानकारी अस्पताल प्रशासन को दी गई। पता किया गया कि बाबूलाल का शव आखिर कहां गया तो बात सामने आई कि बाबूलाल का शव कौथून के एक परिवार को सौंप दिया गया है। इसके तुरंत बाद पुलिस को सूचना दी गई और कौथून मृत का शव लेकर गए परिजनों को तुरंत वापस बुलाया गया। जिसके बाद दोनों परिवारों को सही शव सौंपे गए। हैरान कर देने वाले मामले की जानकारी मिलने के बाद एसएमएस अस्पताल के अधीक्षक डॉ राजेश शर्मा ने कहा कि हमने इस मामले में जांच कमेटी बनाई है, यह कमेटी 3 दिन में अपनी रिपोर्ट सौंप देगी। जिसके बाद दोषी व्यक्ति पर ठोस कार्रवाई की जाएगी।