भीलवाड़ा कोरोनावायरस संक्रमण की दूसरी भयावह लहर को लेकर चल रहे लाॅकडाउन के तहत सरकार द्वारा 1 जून से अनलॉक करते हुए मामूली छूट दी गई थी और इसी 4 घंटे की छूट को लेकर भीलवाड़ा शहर के बाजारों में ऐसा माहौल है जैसे मानो कि धनतेरस और दीपावली आ गई हो। जिस तरह धनतेरस और दीपावली के दौरान शहर के बाजारों में भीड़ उमड़ती है खरीदारी के लिए इसी तरह भीलवाड़ा शहर के बाजारों में अनलॉक की प्रक्रिया के पहले दिन के मुकाबले आज दूसरे दिन बाजारों में जबरदस्त भीड़ थी मानो ऐसा लग रहा था कि दीपावली का त्यौहार हो हालात यह थे कि शहर के कई बाजार में इस भीड़ के कारण यातायात जाम की स्थिति उत्पन्न हो गई और वाहनों की लंबी कतारें तक लग गई ।पुलिस व प्रशासन बेबस अनुरोध की प्रक्रिया के तहत प्ले 2 दिन से 4 घंटे की छूट में बाजारों में उमड़ रही भीड़ को लेकर व्यवस्थाओं के लिए तैनात पुलिस का जाब्ता और प्रशासन के अधिकारी अपने आप को बेबस नजर आ रहे थे को 4 घंटे की समय सीमा समाप्त होने से आधा घंटे पहले पुलिस के वाहन व्यापारियों को चेतावनी देने लग जाते हैं लेकिन आश्चर्य की बात है 11:00 बजने के बाद भी लोग मैं तो घरों में लौटते हैं और नहीं व्यापारी अपने प्रतिष्ठान बंद कर घर को लौट रहे हैं ऐसे में पुलिस और प्रशासन को बड़ी मशक्कत करनी पढ़ रही है।भीलवाड़ा में फिर कहर ढहाएगा कोरोना ?2 दिन से चल रही अनलॉक की प्रक्रिया के दौरान शहर के बाजार गलियों में उमड़ रही भीड़ तथा व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर देखी जा रही भीड़ जान है तो सोशल डिस्टेंसिंग की पालना हो रही है और कई जगह तो बिना मास के तक के राजगीर और ग्राहक देखे जा सकते हैं ऐसी स्थिति देखकर इस संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता कि भीलवाड़ा में एक बार कोरोनावायरस की आने वाली तीसरी लहर फिर कहर ढाहगी और शायद भीलवाड़ा की आम जनता भी यही चाहती है और यही भाषा समझती है सरकार और प्रशासन लाख अपील कर ले विनती कर ले व्यवस्थाएं कर दे लेकिन भीलवाड़ा के शहर वासी हैं जो इस तरह बीड करके यह दर्शना चाहते हैं कि आप कुछ भी कर लो हम नहीं…

IMG 20210603 131243