मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। हिन्दुस्तान में कई ऐसे शूरवीर पैदा हुए जिन्होंने देश को आजाद कराने के लिए अपने प्राणों की भी आहूति दे डाली। उन्हीं में से एक है नेताजी सुभाष चन्द्र बोस। बता दें कि देशवासी आज नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 125वीं जयंति मना रहा है।

ff

बता दें कि तुम मुझे खून दो, मैं तुम्‍हें आजादी दूंगा….! जय हिन्द! जैस नारों से आजादी की लड़ाई को नई ऊर्जा देने वाले नेताजी सुभाष चंद्र बोस भारत के उन महान स्वतंत्रता सेनानियों में शामिल हैं। जिनसे आज के दौर का युवा वर्ग प्रेरणा लेता है। इसी बीच बता दें कि नेताजी सरकार ने नेताजी को जन्मदिन को पराक्रम दिवस के तौर पर मनाने की घोषणा की है।

बता दें कि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस 1920 और 1930 के दौरान भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के स्वच्छंदभाव, युवा और कोर नेता थे। बहरहाल बता दें कि आजाद हिंद फौज के संस्थापक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंति के अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री मोदी समेत अन्य नेताओं ने उन्हें याद किया और श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी ने सोशल मीडिया ट्वीट करके कहा कि महान स्वतंत्रता सेनानी और भारत माता के सच्चे सपूत नेताजी सुभाष चंद्र बोस को उनकी जन्म-जयंती पर शत-शत नमन। कृतज्ञ राष्ट्र देश की आजादी के लिए उनके त्याग और समर्पण को सदा याद रखेगा।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट करके कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 125वें जयंती वर्ष के समारोहों के शुभारंभ के अवसर पर उनको सादर नमन। उनके अदम्य साहस और वीरता के सम्मान में पूरा राष्ट्र उनकी जयंती को ‘पराक्रम दिवस’ ​​के रूप में मना रहा है। नेताजी ने अपने अनगिनत अनुयायियों में राष्ट्रवाद की भावना का संचार किया।