पेट्रोल डीजल के बाद सब्जियों के दाम छूने लगे आसमान, बढ़ती महंगाई से आम आदमी परेशान…

0
67
vegetable price increased

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। देश में फैले कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते मध्यमवर्गीय परिवारों का गणित बिगड़ा पड़ा है। जहां देश में पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों से देशवासी गहरी चिंता में है वहीं अब आम लोगों के  सामने एक और मुसीबत खड़ी हो गई है।  लगातार बढ़ती महंगाई आम आदमी की कमर तोड़ दी जा रही है। लॉक डाउन के दौरान सस्ती सब्जियां खाने को मिली लेकिन अब अचानक सब्जियों पर बढ़ी महंगाई से आम आदमी बेहद परेशान हैं। अनलॉक 2 लागू होने के बाद से सब्जियों के दामों में दो से तीन गुना इजाफा देखने को मिला है। मंडियों में बाहर से आ रही सब्जियों के ट्रांसपोर्ट का खर्च बढ़ने लगा है तो वही लोकल सब्जियों की आवक घटने लगी है जिससे सब्जियों पर भी महंगाई की आग बरस रही है। लॉक डाउन केदौरान सब्जियों के भाव 20 रुपए किलो के आसपास थे लेकिन अब सब्जियों के दाम आसमान छूने लगे हैं। अप्रैल मई के महीने में 20 रुपए किलो बिकने वाला टमाटर आज 50-55 रुपए किलो बिक रहा है।

बहरहाल, एक तरफ पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों की मार पड़ रही है तो वहीं अब सब्जी के दाम दोगुना होने से आम आदमी की बचत पर सीधा असर पड़ रहा है। अन्य राज्यों से आ रही फल और सब्जियों के परिवहन शुल्क बढ़ने की वजह से कीमतों में बढ़ोतरी हुई है। फल सब्जियों के थोक व्यापारियों का कहना है कि अभी सब्जियों की कीमतों पर महंगाई जारी रहेगी। देश में फैली कोरोना महामारी और लॉक डाउन की वजह से कितने ही लोगों का काम धंधा बिल्कुल ठप हो गया है और अब यह बढ़ती महंगाई मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है।