मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। अलवर जिले के बानसूर के बुटेरी गांव के 40 साल के रविन्द्र की बुधवार रात काे हत्या कर बदमाश बुटेरी श्मशान घाट के पास फेंक गए। गुरुवार सुबह खेत में बॉडी देख ग्रामीणाें ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद बहरोड़, नीमराणा व बानसूर थानों के पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। एफएसएल टीम व डॉग स्कायड के जरिए पुलिस हत्यारों की पड़ताल में लगी है। परिजन हत्यारों को पकड़े जाने तक शव नहीं उठाने पर अड़े हैं। हालांकि पुलिस का कहना है कि मामले में तीन संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

crime 1

जानकारी के अनुसार पुलिस व ग्रामीणों ने बताया कि रविन्द्र को बुधवार को भूरी डूंगरी पर पत्थर तोड़ने के लिए उसे घार से लेकर गए थे। शाम को रविन्द्र घर नहीं लौटा। उसका मोबाइल भी स्विच ऑफ हो गया था। गुरुवार सुबह उसका शव श्मशान घाट के पास मिला है। ग्रामीणों ने बताया कि भूरी डूंगरी पर पत्थरों पर खून के निशान हैं। इसके अलावा रविंद्र के हाथ-पैर व गले पर भी निशान हैं, जिससे साफ लग रहा है कि उसकी हत्या की गई है। रविंद्र के दो बेटे व पत्नी है।

रविन्द्र के भतीजे विकास की नौ माह पहले मौत हो गई थी। विकास को प्रशासन ने करंट से मरना दिखाया था। जबकि, ग्रामीणों का कहना है कि रविन्द्र के भतीजे की भी हत्या की गई थी। इस कारण ग्रामीण रविन्द्र का शव तब तक नहीं लेने पर अड़े हैं जब तक हत्यारों को गिरफ्तार नहीं किया जाता। घटना स्थल पर बहरोड़ डीएसपी देशराज, नीमराणा डीएसपी महावीर सिंह, बानसूर एसएचओ कुशाल सिंह, हरसोरा एसएचओ सत्यनारायण सहित एफएसएल टीम व क्यूआरटी टीम मौजूद है। ग्रामीणों का कहना है कि क्षेत्र में अपराध की घटनाएं लगातार बढ़ रही है। इससे आमजन में भी रोष है।