मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। ट्रेनों में अब फिर से यात्रियों को खाना मिल सकेगा। रेलवे यात्रियों के लिए ई-कैटरिंग की सुविधा फरवरी से फिर से शुरू करने जा रहा है। रेलवे मिनिस्ट्री ने इसके लिए IRCTC को अनुमति दे दी है। लिहाजा ट्रेनों में सफर के दौरान यात्रियों को ऑर्डर बुक करने पर खाना मिलेगा। हालांकि, इसकी शुरुआत देश के कुछ चुनिंदा रेलवे स्टेशनों से हो रही है।

hh 2

पिछले साल 23 मार्च को केंद्र सरकार ने कोरोना के चलते सभी ट्रेनें बंद करने का ऐलान किया था। इसके बाद जब ट्रेनें शुरू हुई तो उनमें पैंट्री कार नहीं थी। अब IRCTC की इस सुविधा से यात्री ऑनलाइन ही पसंदीदा रेस्टोरेंट से अपना खाना ऑर्डर कर सकते है। ऑर्डर करने के समय यात्रियों को यह बता दिया जाएगा कि उनका खाना किस स्टेशन पर और कितनी देर में पहुंचेगा। यात्री को कहीं जाने की जरूरत नहीं होगी। खाना उनकी सीट पर पहुंचा दिया जाएगा।

पूरी ऐहतियात रखी जाएगी

रेल रेस्ट्रो इस महीने के अंत से काम शुरू करने को तैयार है। इसके लिए कंपनी ने कड़े दिशा-निर्देश दिए हैं, जिसमें परिचालन के दौरान कई बार रेस्त्रां के कर्मचारियों और डिलीवरी कर्मियों की थर्मल स्कैनिंग, नियमित अंतराल पर रसोई की सफाई, रेस्त्रां के कर्मचारियों और डिलीवरी कर्मियों द्वारा मास्क या फेसशील्ड का इस्तेमाल शामिल है।

बड़ी कंपनियों के साथ समझौता

IRCTC ने कई नामी फूड कंपनियों के साथ करार किया है। ट्रेन के सफर के दौरान अब मुसाफिरों को एमटीआर, आईटीसी, डूकेन, बाघ बकरी, आरके केटरर, हल्दीराम समेत कई नामी कंपनियों का रेडी टू ईट फूड मिलेगा। दरअसल, कोविड के चलते फिलहाल सिर्फ स्पेशल ट्रेन ही चल रही हैं और इनमें पैंट्री व्यवस्था पर फिलहाल रोक है। ऐसे में रेलवे इन ट्रेनों में रेडी टू ईट मील का कंसेप्ट पसंद आ रहा है। रेलवे के सूत्रों की मानें तो रेल मंत्री पीयूष गोयल इस योजना को जल्द नीति के तहत लागू करना चाहते हैं। नीति लागू होने पर जिन ट्रेन में पैंट्री व्यवस्था है, वहां से कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर IRCTC को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी, ताकि वो ट्रेन में रेडी टू ईट मील सर्व कर सके।

ऐसे मिलेगा ट्रेन में खाना

IRCTC के प्रवक्ता सिद्धार्थ सिंह ने बताया कि यात्री ecatering.irctc.com के जरिए ई-कैटरिंग सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। इसके अतिरिक्त फोन से भी ई कैटरिंग सेवा का फायदा लिया जा सकेगा। इसके अलावा यात्री IRCTC ई-कैटरिंग ऐप फूड ऑन ट्रैक को डाउनलोड कर सकते हैं। यात्रियों की सुविधा के लिए कैश ऑन डिलीवरी का विकल्प भी दिया जाएगा।