प्रदेश के इंजीनियरिंग कॉलेजों में लिया गया बड़ा फैसला, 50% जेईई मेन और आधी सीटों पर 12वीं की मेरिट से होंगे दाखिले…

0
43
engineering


मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। राजस्थान में इंजीनियरिंग फर्स्ट ईयर के छात्रों के एडमिशन को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है। अब इंजीनियरिंग कॉलेजों में 50% सीटों पर जेईई मेन और आधी सीटों पर 12वीं की मेरिट के हिसाब से एडमिशन दिया जाएगा। हालांकि 15% सीटें अन्य राज्यों के छात्रों के लिए रिजर्व रखी जाएंगी। यह निर्णय राजस्थान इंजीनियरिंग ऐडमिशन प्रोसेस (रीप) 2020 की  स्टेट लेवल की एडमिशन कमेटी की बैठक में लिया गया है। बैठक की अध्यक्षता कमेटी की सचिव शुचि शर्मा के द्वारा की गई।

बता दें कि पिछले साल तक जेईई मेन के आधार पर ही एडमिशन में प्राथमिकता दी जाती थी।  काउंसलिंग के आखिरी चरण में सीटें खाली रह जाने पर बोर्ड के अंकों को वेटेज दिया जाता था। अब एडमिशन प्रक्रिया तय होने के बाद जल्द ही राजस्थान इंजीनियरिंग ऐडमिशन प्रोसेस यानी रीप कॉलेजों में रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरु कर देगा। इस बैठक में एक और अहम फैसला लिया गया है।देश में फैले कोरोना संक्रमण को देखते हुए तय किया गया है कि एडमिशन रजिस्ट्रेशन फीस भी कम की जाए। छात्रों को राहत देते हुए अब फीस 250 रुपए रखी गई है जबकि पहले यह फीस 700 रुपए थी। अब छात्र कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए खुद तय कर सकेंगे कि उन्हें 12वीं में मेरिट के आधार पर दाखिला लेना है या जेईई में स्कोर किए गए अंकों के आधार पर। हालांकि पहले किस का रिजल्ट आएगा यह भी देखना होगा।