भीलवाड़ा कोरोनावायरस की महामारी को लेकर राजस्थान में सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन के तहत आज से 4 घंटे की कुछ थोक व्यापारियों को दी गई रियायत के बाद शहर में सड़कों पर एकदम से भीड़ उमड़ पड़ी और लोग करो ना को भूल कर सोशल डिस्टेंसिंग को पूरी तरह से भूल गए और खरीदारी में जुट गए। ऐसे में कोरोना की चैन को कैसे तोड़ना संभव होगा भीड़ को देखते हैं पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी और कई दुकानों को तो बंद कर आना पड़ा।सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन के तहत किराना के थोक व्यापारियों को 4 घंटे के लिए दी गई थी ताकि वह रिटेलर किराना व्यापारियों को उनकी डिमांड के अनुसार कोरोना गाइडलाइन की पालना करते हुए। सामग्री उपलब्ध करा सके इससे कि रिटेलर व्यापारी अपने अपने एरिया कॉलोनी मोहल्ले में जहां उनके प्रतिष्ठान हैं वह आम जन को घर घर राशन सामग्री उपलब्ध करा सके। लेकिन आज बाजारों में यह स्थिति थी कि रिटेल में खरीदारी करने वाले आमजन सड़कों पर उतर आए और दुकानों पर पहुंच गए बाजार नंबर दो और सरकारी दरवाजे में तो यह स्थिति हो गई कि जाम तक लग गया और पुलिस को पहुंचकर जाम खुलवाने के साथ ही दुकानों को मजबूरन बंद कर आना पड़ा।अपर पुलिस अधीक्षक गजेंद्र सिंह जोधा स्वयं रेलवे स्टेशन चौराहे से लेकर गोल पर चौराहे तक बाजारों में खड़े होकर दुकानों पर भीड़ होने से उन्हें अनाउंस करके भीड़ को हटवाया।सुबह की सब्जी मंडी मे था सन्नाटागोपालगंज स्टेशन की सब्जी मंडी में सब्जी विक्रेताओं ने बिल्कुल सरकार के आदेशों की पालना करते हुए मंडी में किसी भी ग्राहक को अंदर घुसने की अनुमति नहीं दी यहां तक की सभी सब्जी विक्रेताओं ने अपनी अपनी दुकानें बंद कर रखी थी ।