तमिलनाडु (TamilNadu) के इरोड जिले से पति-पत्नी (Husband-Wife) के रिश्ते को कलंकित कर देने वाली घटना सामने आई है। तीन करोड़ रुपये की बीमा रकम को पाने के लिए पत्नी (Wife) ने अपने चचेरे भाई के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी और उसे दुर्घटना की शक्ल दे दी। दरअसल इरोड जिले के पेरुन्दुरई के रहने वाले 62 वर्षीय रंगराजन को उनकी पत्नी (Wife) ने सिर्फ बीमा के पैसों को पाने के लिए गाड़ी (Car) में जलाकर मार दिया. इस काम में उसका साथ उसके चचेरे भाई ने दिया। दरअसल रंगराजन एक पावर लूम और रियल एस्टेट का कारोबार करते थे. हाल ही में वह पिछले महीने एक दुर्घटना में घायल हो गए थे और कोयंबटूर के एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था. एक दिन उनकी 55 साल की पत्नी ज्योति मणि (55) और उनके चचेरे भाई राजा ( उम्र 41 साल) ने उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज करवा लिया और ओमनी वैन से घर ले जाने लगे. दोनों ने मिलकर पहले ही रंगराजन की हत्या की साजिश रच ली थी। इन दोनों ने लोगों को बताया कि वो ओमनी वैन को लेकर निकले और जब पेरुमानल्लूर के पास पहुंचे तो उसमें आग लग गई। आग लगने के बाद दोनों गाड़ी से निकल कर अपनी जान बचा ली लेकिन वो रंगराजन को बाहर नहीं निकाल पाए।

screenshot www.aajtak.in 2021.04.11 13 37 56

पुलिस ने जब इस घटना की जांच की तो रंगराजन की पत्नी और उसके चचेरे भाई राजा के बयान को एक दूसरे के विपरीत पाया. इससे उनका शक उन दोनों पर बढ़ गया और जब सख्ती से पूछताछ की गई तो उन्होंने चौंकाने वाले तथ्यों का खुलासा किया.महिला ने बताया कि उसके पति रंगराजन ने 3 करोड़ रुपये का दुर्घटना बीमा करवा रखा था और उस पर 1 करोड़ का कर्ज था। उधार देने वाले लोग लगातार पैसा देने के लिए दबाव बना रहे थे। महिला ने बताया कि उसके पति ने बीमा में उसे ही नॉमिनी बनाया था। ज्योति मणि और राजा ने कबूल किया कि रंगराजन ने ही उन्हें कहा था कि वे उसे मार डालें और बीमा से मिले पैसे का इस्तेमाल कर्ज चुकाने के लिए करें। ज्योति मणि और राजा ने इसके बाद योजना बनाई और रंगराजन पर पेट्रोल (Petrol) डालकर वाहन में आग लगा दी ताकि यह एक दुर्घटना के रूप में दिखाई दे और 3 करोड़ रुपये की बीमा राशि उन्हें मिल जाए। पुलिस ने हत्या के आरोप में दोनों को गिरफ्तार (Arrested) कर लिया है, ज्योति मणि और उसके चचेरे भाई राजा को कोयंबटूर सेंट्रल जेल में भेज दिया गया है।

screenshot www.aajtak.in 2021.04.11 13 39 00