10 साल की लड़की को बनाया हवस का शिकार, इतना ही नहीं शादी करके…

0
56

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। उत्तरप्रदेश में लुठपाट, बलात्कार, दुष्कर्म और नाबालिग बच्चिों के साथ गैगरेंप के मामलें दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे है। सरकार और पुलिस प्रशासन इन पर लगाम लगाने के लिए हर संभव प्रयत्न करते हुए नजर आते है। लेकिन समाज को शर्मसार करने वाले ऐसे दरिंदे बिना किसी बैखोफ इन वारदातों को अंजाम दे डालते है।

हाल ही में यूपी के शामली जिले के मुजफ्फरनगर से एक समाज को शर्मसार करने वाला मामला सामने आ रहा है। जिसमें एक बहशी दरिंदें ने 10 साल की बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाया। इतना ही नहीं परिवार के दवाब के चलते इस दरिंदे की 10 साल की पीड़िता से शादी भी करा दी। लेकिन दरिंदा यही नहीं माना उसने थोड़े दिन ही बाद तीन तलाक देकर पीड़िता को अपने माता पिता के साथ छोड़ दिया। जानिए क्या है पूरा मामला…

समाज को शर्मसार करने वाला ये मामला यूपी के शामली जिले के मुजफ्फरनगर का है। जहां दस साल की बच्ची के साथ उसकी बहन के देवर ने दरिंदगी की हद पार करते हुए बलात्कार किया। चाइल्ड केयर हेल्पलाइन इंचार्ज बताती हैं कि पीड़िता ने फरवरी में बलात्कार के बाद बहन के देवर से शादी की थी। शादी के कुछ हफ्तों के बाद अपराधी ने उसे तीन तलाक दिया और फिर 4 अगस्त को लड़की को उसके माता-पिता के घर छोड़ दिया।

इसके बाद घरवालों ने चाइल्ड केयर हेल्पलाइन से संपर्क कर पुलिस थाने में इस घिनौनी हरकत को अंजाम देने वाले दरिंदें के खिलाफ मामला दर्ज कराया। पुलिस ने मामला दर्ज कर अपराधी की तलाशी शुरू कर दी। उसके बाद पुलिस ने अपराधी को बुढाना पुलिस थाने के तहत जोला गांव में दबोचा गया और उसे गिरफ्तार किया गया। अपराधी को गिरफ्तार कर थानाधिकारी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ पर भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (बलात्कार) और यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (POCSO) अधिनियम और बाल विवाह निषेध अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। लेकिन आखिर अब ये सवाल उठता है की समाज को शर्मिदा करने वाले ऐसे मामलों पर लगाम कब लगेगी। ऐसे अपराधों को रोकने के लिए हम सभी को चुप्पी तोड़नी होगी।