छोटे बच्चों में छिपी प्रतिभाओं को निखारने एवं उनके व्यक्तित्व विकास के लिए सूर्या फाउंडेशन द्वारा ऑनलाइन किड्स कैंप (पांच दिवसीय) का आयोजन दिनांक 6 से 10 जून 2021 तक किया गया। कैंप का उद्घाटन सूर्या फाउंडेशन के प्रशिक्षण प्रमुख गौतम नायक द्वारा किया गया जिसमें उन्होंने बताया कि यह उम्र संस्कारों के बीजारोपण का सही समय है। इस उम्र में बच्चों को जैसी आदत लग जाती है वह जीवन भर उनका अनुसरण करते हैं।इस शिविर में देश के 20 राज्यों से 1000 बच्चों ने भाग लिया शिविर की विशेष गतिविधियों में क्राफ्रिटंग, हमारे सहयोगी एवं वेशभूषा, माता-पिता के गुणों की चर्चा, प्रतिभा प्रदर्शन, प्रकृति प्रेम जैसी अनेक बातें सिखाई गई तो वहीं दूसरी ओर विभिन्न सत्र जैसे- श्री मुकेश जी द्वारा छोटे बच्चे बड़ा काम, श्री भारत जी द्वारा अच्छे स्वास्थ्य की बातें, पद्मश्री जय प्रकाश द्वारा आज के बच्चे कल का भारत इन विचारों इन विषयों पर बच्चों का ऑनलाइन मार्गदर्शन किया गया।

IMG 20210610 WA0052

Byशिविर को रोचक बनाने के लिए विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया जिसमें चित्रकला, भक्तिधारा, कविता, नृत्य, वेशभूषा आदि थे।

IMG 20210610 WA0051

चित्रकला प्रतियोगिता में बच्चों ने प्रकृति, मेरे आदर्श महापुरुष, ऐतिहासिक स्मारक एवं कहानियों पर आधारित चित्रें को बना प्रतियोगिता में उत्साह पूर्वक भाग लिया। वेशभूषा प्रतियोगिता में किसी महापुरुष का वेश पहन कर उनके बारे में उनके विचार प्रस्तुत किए। इस शिविर में कुछ ऐसे मेधावी एवं प्रतिभावान बच्चों से शिविरार्थियों को जूम मीट के माध्यम से मिलाया गया जिन्होंने राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी छवि बनाई। शिविर के समापन को संबोधित करते हुए सूर्या फाउंडेशन के वाइस चेयरमैन हेमंत शर्मा ने बताया कि इस प्रकार छोटे बच्चों के लिए आयोजित यह शिविर काफी सफलतापूर्वक संपन्न हुआ इन शिविरों के माध्यम से बच्चों के मन में प्रतियोगी भावना का विकास होता है एवं नकारात्मक बातें एवं विचारों से मन कोसों दूर भागता है। शर्मा ने उन सभी अभिभावकों का भी धन्यवाद दिया जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से इस शिविर के सहयोगी बने एवं बच्चों का हौसला बढ़ाया।शिविर प्रमुख हिमांशु ने शिविर के सफलतम आयोजन के लिए सभी शिविरार्थियों, शिविर संचालकों को बधाई दी एवं भविष्य में भी इस प्रकार के शिविर होते रहेंगें इसका आश्वासन दिया शिविर की संचालन टोली में अनिरुद्ध, गौरव शर्मा, रुस्तम, गौरव, नितिन, उत्कर्ष, सतवीर, देवी प्रसाद, जय साहू, धर्मेंद्र, कमलेश आदि की विशेष भूमिका रही।