सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने कहा, चीन के साथ वार्ता विफल तो सैन्य कार्रवाही पर…

0
114

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। इन दिनों भारत और चीन के बीच सीमा विवाद गहराता जा रहा है। इसी बीच चीन के साथ चलते सीमा विवाद के बीच देश के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने एक बड़ा बयान दिया है।

सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार सीडीएस रावत ने साफ कहा कह दिया है कि, चीन के साथ बातचीत से विवाद नहीं सुलझा तो सैन्य विकल्प भी खुला है। हालांकि, शांति से समाधान तलाशने की कोशिशें की जा रही हैं। साथ ही सीडीएस ने कहा कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और राष्‍ट्रीय सुरक्षा के जिम्‍मेदार लोग इस कोशिश के साथ सभी विकल्‍पों पर विचार कर रहे हैं कि किसी भी प्रकार से पीएलए लद्दाख में पहले जैसी स्थिति में लौट जाए।

गौरतलब है कि चीन अभी भी पैगॉन्ग के इलाके में अपने पैर जमाकर खड़ा है। चीन बि​ल्कुल भी वहां से पीछे हटने को तैयार नहीं है। बहरहाल बता दें कि भारत और चीन सीमा विवाद को सुलझाने के लिए गई बार सैन्य वार्तालाप हो चुकी है। इतना ही नहीं इस विवाद पर राजनयिक स्तर पर भी वार्ता हो चुकी है। लेकिन चीन है कि सीमा से पीछे हटने को तैयार नहीं है। बता दें कि 15 जून को गलवान घाटी में भारत-चीन के बीच हिसंग झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। हालांकि इस हिसंग झड़प में चीनी सेना को भी भारी नुकसान उठाना पड़ा साथ ही चीन के भी करीब 35 सैनिक मारे गए थे, लेकिन चीन ने इस बात को नहीं माना।