संघ प्रमुख भागवत बोले, भारत की प्रतिक्रिया ने चीन को परेशान कर दिया और…

0
71

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। देश में आज कोरोना संक्रमण के कारण विजयादशमी का पर्व बड़ी ही सादगीपूर्ण तरीके से मनाया जा रहा है। विजयादशमी के मौके पर रविवार को संघ प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर स्थित मुख्यालय में शस्त्र पूजा की।

इस मौके पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने स्वयंसेवकों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कोरोना, चीन, हिंदुत्व और राम मंदिर से लेकर तमाम बड़े मुद्दों पर बात की। उन्होंने कहा कि राम मंदिर पर 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट का असंदिग्ध निर्णय आया। एकमत से निर्णय था, सारे देश ने समाज ने उसे स्वीकार किया। हर्षोल्लास का विषय होने के बाद भी संयम से उसे मनाया। साथ ही संघ प्रमुख ने चीन पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि चीन के साम्राज्यवादी स्वभाव के सामने भारत तन कर खड़ा हुआ है, जिससे पड़ोसी देश के हौसले पस्त हुए हैं। कोई भी देश हमारी दोस्ती को कमजोरी न समझे।

जो ऐसा समझते हैं कि वे हमें जैसा चाहे झुका सकते हैं, उनकी गलतफहमी दूर हो गई होगी। चीन को समझ में आ गया होगा कि भारत इतना कच्चा नहीं है। हमें इस ताकत को बनाए रखना होगा। केवल चीन ही नहीं है देश के लिए भी सुरक्षा बहुत महत्वपूर्ण है। इसके अलावा उन्होंने कोरोना को लेकर भी कहा कि, कोरोना ने लोगों को जीना सीखा दिया है। गौरतलब है कि नागपुर में होने वाले संघ के इस कार्यक्रम में हर साल किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया जाता है। इस बार कोरोना महामारी के कारण किसी बाहरी व्यक्ति को कार्यक्रम में नहीं बुलाया। इस बार नागपुर में जयघोष और पथ संचलन भी नहीं किया गया।