शोपीस बनी कालवाड़ रोड़ की रोड़ लाइटें, प्रशासन नहीं ले रहा कोई सुध

0
141

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क (संतोष कुमार सैनी) कालवाड रोड पर जेडीए द्वारा 1 करोड़ 72 लाख की लागत से लगाई गई रोड़ लाइटें मेंटेनेंस के अभाव में धूल फांक रही है। बता दें कि मेंटेनेंस के अभाव में बंद पड़ी रोड लाइटों के कारण जयपुर फलौदी मेगा हाईवे पर अंधेरा छाया रहता है। अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। हाथोज से कालवाड़ तक 50 प्रतिशत से अधिक रोड लाइटें बंद होने के कारण वाहन चालक हादसों का शिकार हो रहे हैं। आमजन को भी काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

चुनावी सरगर्मियां के दिनों में चमाचम रहती है कालवाड रोड

धर्मपुरा के स्थानीय निवासियों व व्यापारियों ने बताया कि जयपुर फलोदी मेगा हाईवे पर चुनावी सरगर्मियां के समय तो रोड़ पर पूरी रोड़ लाइटें जला दी जाती है। नेताओं के चुनकर जाने के बाद ठेकेदार इन रोड लाइटों का मेंटेनेंस समय पर नहीं करते हैं। स्थानीय निवासी व व्यापारी बताते हैं कि रोड लाइटें जब जलती थी तो रोशनी के कारण बाजार भी लेट तक खुला रहता था। लेकिन अब इनके बंद रहने से बाजार में शाम के समय सन्नाटा छाया रहता है।

आवारा पशुओं का रहता है जमावड़ा

कालवाड रोड की रोड़ लाइट बंद होने के कारण रोड़ पर अंधेरा छाया रहता है। आवारा पशुओं का जमावड़ा जमा रहता है। जिसके कारण वाहन चालक आए दिन हादसों के शिकार हो रहे हैं।

कम हो गया था हादसों का ग्राफ

आपको बता दें कि रोड़ लाइटें जलने के बाद कालवाड़ रोड पर हादसों का ग्राफ कम हो गया था। आवारा पशुओं का जमावड़ा भी नहीं रहता था। लेकिन रोड़ लाइटों के बंद पड़े होने के कारण हादसों का ग्राफ बढ़ रहा है।