शिक्षक दिवस पर पीएम मोदी ने देशवासियों को दी शुभकामना, प्रदेश में निर्भया स्कवायड करेगी ये काम…

0
166

गुरु गोविन्द दोऊ खड़े काके लागै पाएं।

बलिहारी गुरु आपने गोविन्द दिओ बताए।।

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। देशभर में आज शिक्षक दिवस मनाया जा रहा है। हालांकि इस बार के शिक्षक दिवस पर कोविड19 की मार पड़ी है। जिसके कारण स्कूलों में बड़ी ही सादगी से मनाया जा रहा है। देश में बड़े त्यौहार के रूप में मनाए जाने वाले​ शिक्षक दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिक्षकों को शुभकामनाएं दी हैं। पीएम मोदी ने कहा हमारे राष्ट्र के गौरवशाली इतिहास से हमारा जुड़ाव गहरा करने के लिए हमारे ज्ञानवान शिक्षकों ने अपना बेहतर योगदान दिया है।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने टविट करते हुए, शिक्षकों के योगदान को याद किया और उन्हें देश के निर्माण की नींव तैयार करने वाला बताया। प्रधानमंत्री ने कहा कि शिक्षक दिवस के अवसर पर हम अपने शिक्षकों के शानदार काम के लिए उनके प्रति आभार जताते हैं। बता दें कि शिक्षक दिवस के अवसर पर प्रदेश में कई कार्यक्रम होने जा रहे है।

राजधानी जयपुर में निर्भया स्कवायड की एडीसीपी सुनीता ​मीणा ने मरूधर बुलेटिन को जानकारी देते हुए बताया कि डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंति के अवसर पर निर्भया स्क्वायड कोविड19 की पालना करते हुए विद्यालय में जाकर शिक्षक दिवस मनाएगी। मीणा ने बताया कि हाल ही में कोविड19 के चलते संपूर्ण प्रदेश में स्कूल बंद है शिक्षक आ रहे छात्र नहीं आ रहे है। ऐसे में ऑनलाइन और ऑफलाइन शिक्षकों को महिला जागृरूकता कार्यक्रम को देखते हुए ​महिलाओं में ​जागृति को बढ़ाने के लिए स्कूलों में शिक्षक दिवस मनाया जा एगा। साथ ही शिक्षकों को महिलाओं के प्रति संकल्प दिलाया जाएगा।

आइए जानते है शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है…
इस दिन को डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के सम्मान में मनाया जाता है। उनका जन्म 5 सितंबर 1888 को हुआ था। 1962 से उनके जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारतरत्न डॉक्टर राधाकृष्ण के स्वयं के विचार थे कि यदि मेरा जन्मदिन मनाने के बजाय 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है, तो यह मेरा गौरवपूर्ण विशेषाधिकार होगा। उसके बाद से ही हर वर्ष उनके जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है।

आपको बता दें कि महान शिक्षाविद डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन स्वतंत्र भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति दूसरे राष्ट्रपति शिक्षाविद है। डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन को भारत रत्न भी मिला हुआ है।