अगरतला। कोरोनावायरस महामारी की भयावहता को लेकर पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है और सभी राज्य सरकारों ने अपने-अपने राज्यों में केंद्र सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन की पालना कराने के लिए सभी कलेक्टर्स को दिशा निर्देश दिए गए हैं ।लेकिन गाइडलाइन में यह नहीं कहा गया है की गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों पर डंडे बरसाए जाएं और उन्हें बेइज्जत किया जाए लेकिन त्रिपुरा वेस्ट में 3 दिन पूर्व एक शादी समारोह में त्रिपुरा वेस्ट के जिलाधिकारी ने पुलिस कर्मियों के साथ घुसकर डंडे बरसाना और बेइज्जती करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद सरकार ने कलेक्टर को सस्पेंड कर दिया है ।सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो मे त्रिपुरा वेस्ट के जिलाधिकारी ( डीएम ) शैलेश यादव कोरोना के कारण एक शादी समारोह को बेहद ही गलत ढंग से रुकवा रहे थे। बारातियों पर पुलिस से लाठिया बरसवा रहे थे।दूल्हे व उसके रिश्तेदारों से बेहूदगी से बात कर रहे थे वीडियो वायरल होने के बाद त्रिपुरा के कई भाजपा विधायकों ने मुख्यमंत्री विप्लब देब को पत्र लिखकर डीएम शैलेश यादव को सस्पेंड करने की मांग की, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, डीएम यादव अब सस्पेंड कर दिए गए हैं।वायरल वीडियो में डीएम शैलेश यादव कहते हैं कि ‘शादी में उपस्थित सभी लोगों ने सीआरपीसी की धारा 144 का उल्लंघन किया है ।वायरल वीडियो में डीएम शैलेश यादव काफी गुस्से में भी दिखे। इस दौरान डीएम ने कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर रहे लोगों को वहां से भगा दिया।इतना ही नहीं डीएम शैलेश यादव ने दूल्हे को भी धक्के मारकर बाहर निकाल दिया। साथ ही डीएम शैलेश ने कई लोगों के साथ अभद्रता भी की। इस दौरान डीएम शैलेश यादव ने भाषाई स्तर पर भी सारी सीमाओं को लांघ दिया।