विवाह का पहला निमंत्रण गणेश जी को देने के लिए जोधपुर में बंद मंदिर के बाहर लगी लंबी कतार…

0
49
jodhpur

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। देश में फैले कोरोना महामारी और लॉक डाउन का असर हर चीज पर पड़ा है। आम आदमी से लेकर जाने-माने चेहरों तक हर कोई कोरोना की मार झेल रहा है। इस संकट की घड़ी में सबसे ज्यादा परेशानी लोगों के सामने खड़ी हुई है। कोरोना का असर अप्रैल-मई  में होने वाली शादी विवाह पर भी पड़ा है। महामारी के फैलने के डर से कितने ही लोगों की शादी आगे टाल दी गई। लेकिन सरकार ने शादी में 50 लोगों के शामिल होने की गाइडलाइन जारी करते हुए सादगी के साथ शादी- बियाह संपन्न करने की अनुमति दे दी है। जिसके बाद कोरोना महामारी में भी कई लोगों की शादी हुई है। लॉक डाउन के कारण अप्रैल और मई में शादी का मुहूर्त निकल जाने के बाद जून में 27, 29 और 30 तारीख का ही मुहूर्त बचा है। इसके बाद 4 महीने तक मुहूर्त ना होने के कारण विवाह नहीं हो सकेंगे। ऐसे में जोधपुर के रातानाडा गणेश मंदिर का नजारा कुछ अलग ही दिखाई दे रहा है। कारण है शादी के शुभ मौके पर गणेश जी को निमंत्रण देना। ऐसे में कई परिवार मंदिर में गणेश जी को न्योता देने पहुंच रहे हैं। 30 जून तक सरकार ने सभी धार्मिक स्थल बंद किए हुए हैं ऐसे में मंदिर के पुजारी ने बताया कि फिलहाल मंदिर को श्रद्धालुओं के लिए नहीं खोला गया है। आगे जब सरकार गाइडलाइन जारी करेगी तभी श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के द्वार खोले जाएंगे। बुधवार को भी 35 से ज्यादा परिवार मंदिर आकर गणेश जी को विवाह के मंगल उत्सव का न्योता  देने पहुंचे। मंदिर बंद होने के कारण भक्त द्वार से ही गणेश जी को न्योता देकर चले गए।