वार्ड 44 पार्षद प्रत्याशी परवीन बानो को फोकस भारत की ओर से मेमन्टो देकर किया सम्मानित

0
11

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। राजधानी में जयपुर नगर निगम के ढाई सौ वार्ड प्रत्याशियों को सम्मानित करने के लिए फोकस भारत की ओर से एक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया रहे। उन्होंने कार्यक्रम में दीप प्रज्वलित किया।

सम्मान समारोह में अतिथि के रूप में जोधपुर से आए किन्नर कांता बुआ ने सभी आए हुए प्रत्याशियों को मेमन्टो से सम्मानित किया। इस मौके पर जयपुर के हेरिटेज और ग्रेटर दोनों ही निगम के वार्ड प्रत्याशियों को मोमेंटो से सम्मानित किया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। इस मौके पर कांता बुआ ने कहा फोकस भारत की ओर से अच्छा कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इसके जरिए प्रत्याशियों के हौसला अफजाई होगी। फोकस भारत व कार्यक्रम की आयोजक कविता नरूका ने कहा यह कार्यक्रम पहले आयोजित किया जाना था। मगर किन्ही कारणों की वजह से इसको एन वक्त पर करना पड़ा। क्योंकि जितने भी वार्ड प्रत्याशी है। उनको सम्मान करके उनका हौसला बढ़ाया जाए।

वार्ड 44 से पार्षद प्रत्याशी परवीन बानो एडवोकेट ने फोकस भारत को धन्यवाद देते हुए कहा इसके जरिए से प्रत्याशियों का हौसला बुलंद होगा और अपने मकसद में भी जी जान लगाकर कामयाबी की कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा प्रत्याशी के लिए पार्टी का सिंबल होना इतना महत्वपूर्ण नहीं है। जितना कि उसका जमीनी सतह पर लोगों से जुड़ाव और उनके साथ रहकर काम करना जरूरी होता है। अक्सर सिंबल लेने के बाद में प्रत्याशी पब्लिक के बीच में से लापता हो जाते हैं और सिर्फ नाम के प्रत्याशी रह जाते हैं।

इसलिए उन्होंने पब्लिक से अपील करी की 5 साल प्रत्याशियों के पीछे ना भागे बल्कि प्रत्याशी आपके बीच में रहे। ऐसा प्रत्याशी चुने और प्रत्याशी पढ़ा लिखा होना बहुत जरूरी है और समझदार ईमानदार कर्मठ जुझारू भी होना चाहिए। जो आवाम उसको जीता करके लाती है। उसके लिए वह तत्पर रहें क्योंकि नगर निगम के चुनाव नजदीक हैं और हर व्यक्ति अपने आपको सिंबल के बैनर तले चाहता है। मगर हर व्यक्ति सिंबल नहीं प्राप्त कर सकता। लेकिन अपनी मेहनत और अपनी ईमानदारी और जमीनी सतह से जुड़ाव से वह बिना सिंबल के भी कामयाब हो सकता है। जनता को जागरूक करना बेहद जरूरी होता है। आज जनता खुद समझदार है उन्हें कैसा प्रत्याशी चुनना है। 5 साल प्रत्याशी के पीछे भागना है या प्रत्याशी को अपने बीच में रखना है।