Bhilwara हम नहीं सुधरेंगे राज्य सरकार प्रशासन पुलिस प्रशासन कुछ भी कर ले लेकिन हम भीलवाड़ा वासी नहीं सुधरेंगे ऐसा ही कुछ भीलवाड़ा शहर में लॉकडाउन के दौरान शहर की सड़कों पर देखने को मिल रहा है ।कोरोना वायरस की दूसरी लहर काल बनकर कहर ढा रही है ।इस कोरोना की सुनामी ने हाहाकार मचा रखा है और इससे आमजन को बचाने के लिए राजस्थान की गहलोत सरकार अथक प्रयास कर रही है ।भीलवाड़ा जिला कलेक्टर शिव प्रकाश एम नकाते जिला पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा भी अपनी टीम के साथ पूरे प्रयास में लगे हुए हैं । सरकार ने लॉकडाउन लगा रखा है और जिले के दोनों अधिकारी इस लोक डाउन की पालना कराने के लिए शहर भर में ड्यूटी दे रहे हैं ।शहर की सड़कों पर चौराहे पर इस तपती धूप में पुलिस अधिकारी और जवान मुस्तैदी से खड़े हैं। लेकिन भीलवाड़ा शहर के वासियों को कोरोना रूपी दानव का बिल्कुल भी भय नहीं है स्थिति यह है कि लाॅकडाउन के दौरान केवल बाजार बंद है और दुकानें बंद है ।लेकिन शहर की सड़कों पर आमजन ऐसे विचरण कर रहे हैं जैसे घूमने के लिए शहर की सड़कों पर निकले हैं यही नहीं लोग शादियों की तैयारियां कर रहे हैं तो कोई जुगल( मूडंन संस्कार) उतारने के लिए आरोजन कर रहे हैं । सामूहिक खाने किए जा रहे हैं जो कितनी शर्म की बात है ।प्रशासन को उठाना होगा यह कदम ऐसे बेशर्म लोगों के खिलाफ अब जिला प्रशासन को सख्त कदम उठाते हुए।उनके खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही करनी चाहिए तभी जाकर इस कोरोनावायरस रूपी दानव के संक्रमण को अंकुश लगाने में कुछ हद तक और इसकी कम्युनिटी स्पीड को तोड़ने में सफलता मिलेगी।