क्राइम ब्रांच की सी.एस.टी.द्वारा जयपुर शहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ पुलिस थाना मुरलीपुरा और कोतवाली में कार्यवाही की गयी और कालाबाजारी करने वाले गिरोह का खुलासा करते हुये 06 आरोपी को गिरफ्तार किया।

पुलिस आयुक्त जयपुर श्री आनद श्रीवास्तव ने बताया कि राजस्थान में कोरोना महामारी की दूसरी लहर पर नियंत्रण के लिए राज्य सरकार द्वारा ” अनुशासन पखवाडा ” लागू किया गया है । कोरोना महामारी की घातक लहर के चलते जयपुर शहर में रेमडेसिविर इजेक्शन की किल्लत और भारी मांग होने के कारण रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी और ऊंची कीमतों पर बेचने वालों के विरूद्ध पुख्ता कार्यवाही अजयपाल लाम्बा अति पुलिस आयुक्त प्रथम और दिंगत आनंद , पुलिस उपायुक्त के निर्देशन में और सुलेश चौधरी अति .पुलिस उपायुक्त , संगठित अपराध , आयुक्तालय जयपुर के निकट सुपरविजन में चिरजीलाल मीणा , सहायक पुलिस आयुक्त , आयुक्तालय जयपुर के नेतृत्व में C.S.T. आयुक्तालय जयपुर की टीम का गठन किया गया । जयपुर शहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की किल्लत एवं भारी मांग होने के कारण उक्त इंजेक्शन की कालाबाजारी और ऊंची कीमतों पर बेचने की सूचना पर कार्यवाही करने के लिए सी.एस.टी. टीम को निर्देश दिये गये । जिस पर गठित टीम द्वारा जयपुर शहर में करीब 48 जगहों पर बोगस ग्राहक बनकर ऐसे लोगों को चिन्हित किया गया। इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले लोगों के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही करने के लिए रविन्द्र प्रताप सिंह पुलिस निरीक्षका के नेतृत्व में टीम गठित कर भेजी गयी । जिस पर सीएसटी और पुलिस थाना मुरलीपुरा द्वारा समर्थ मेडिकल स्टोर पर बोगस ग्राहक बनकर रेमडेसिविर इजेक्शन ( Remdesivir Injections ) के 2 इंजेक्शन मंगवाये जाने पर कार्यवाही करते हुये आरोपी 1 जयप्रकाश शर्मा, 2 दलबीर सिंह पुत्र श्री रामनारायण 3 विकास मित्तल पुत्र श्री मुरारी लाल मित्तल , असा कुमार जोगिक पुर श्री महेश कुमार को गिरफ्तार किया गया