राजस्थान में फैल रही कोरोना महामारी और संक्रमण से बढ़ती हुई मौतों के चलते अब लोगो को अपनी जान की फिकर सताने लगी है। एक दिन के अंतराल के बाद जब वक्सीन लगनी शुरू हुई तो. लोगो के सब्र का बांध टूट गया। हर कोई चाहता है की वैक्सीन लगवाने के लिए उसकी बारी पहले आ जाए। जहां एक तरफ लोगों को अपनी जान की इतनी चिंता सता रही है, वहीं लोग हडबडाहट में लापरवाही करने से भी नही चूके रहे है। वैक्सीन लगवाने की जल्दी में लोग एक दूसरे से चिपक कर खड़े हो रहे है, सामाजिक दूरी के नियम और कोरोना प्रोटोकाल की परवाह भी किसी को नही है। ये पूरा मामला है अलवर की एन. ई. बी. डिसपॅंसरी का । लोगो की परेशानी समझने वाले डॉकटर भी मजबूर दिखाई दे रहे है। डा. नरेंद्र गोयल ने बताया कोरोना महामारी से लोग डरे हुए है। अभी लोगो को नियम तोडने से रोक पाना मुश्किल हो रहा है। काफी समझाने के बाद भी कोई समझने को तैयार नही है। एक तरफ वक्सीन लगाई जा रही है, वही दूसरी ओर कोरोना की जांच भी हो रही है। लोग ज्यादा से ज्यादा संख्या में आ रहे है ऐसे में भीड़ का इक्टठा होना लाज़मी है। डिस्पेंसरी में जगह कम है और काम ज्यादा है। लेकिन उम्मीद है कि जल्द ही सब ठीक हो जायेगा ।