राजस्थान (Rajasthan) के प्रमुख शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति लगातार खराब हो रही है। जयपुर (Jaipur), कोटा (Kota), उदयपुर (Udaipur), जोधपुर (Jodhpur) हर जगह हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। कोरोना (Corona) की पहली लहर यानी पिछले साल नवंबर में सबसे ज्यादा 71 हजार 130 संक्रमित सामने आए थे। इस साल दूसरी लहर अप्रैल में तेज हुई और अप्रैल के 17 दिन के भीतर ही 71 हजार 206 केस आ गए।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने आज (रविवार) कैबिनेट की बैठक बुलाई है। उसके बाद देर शाम ओपन बैठक बुलाई है, जिसमें लॉकडाउन के बढ़ाने पर निर्णय किया जा सकता है। जयपुर की बात करें तो RUHS में 800 से अधिक बेड फुल हो चुके हैं। अस्पतालों (Hospitals) में बेड फुल होते देख कोटा के कलेक्टर ने हॉस्टल, धर्मशालाओं में इंतजाम के निर्देश दिए हैं।