कोविड नियमों का पालन नहीं किया गया तो 1-2 महीने में महामारी की तीसरी लहर महाराष्ट्र को प्रभावित कर सकती है। यह लहर कोरोना के बेहद खतरनाक वैरिएंट डेल्टा प्लस (AY.1) की वजह से आएगी। राज्य की कोविड टास्क फोर्स ने बुधवार को इस महामारी की समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी। इसके बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मेडिकल टीम और अन्य अफसरों को जरूरी इंतजाम करने का निर्देश दिया है।