मोदीजी की वैक्सीन डिप्लोमेसी का ही कमाल है कि आज सभी देश मित्रता निभाते हुए, संकट की घड़ी में भारत के साथ खड़े है….सऊदी अरब ने मित्रता निभाते हुए 80 मेट्रिक टन ऑक्सीजन की पहली खेप भारत को भेज दी है,इसी के साथ में 5000 ऑक्सिजन के सिलिंडर भी शिप से भारत को भेज दिए है।इस काम के लिये अदानी ने अपनी शिपिंग कम्पनी से सहायता की है…अमेरिका ने वेक्सीन के कच्चे माल पर लगा बैन हटाकर, मेडिकल सुविधाएं भेजने की शुरुवात कर दी है, आज मध्य रात्रि तक पहला जहाज 350 आक्सीजन कंसेंटेटर और अन्य मेडिकल सामग्रियों के साथ देश मे लेंड करेगा…..उधर ब्रिटेन के जहाज 2 दिन में 8 उड़ाने भरकर भारत तक विभिन्न मेडिकल सामग्रियां भारत तक पहुंचायेगे, जिनमे मेडिकल दवाइयां, वेंटिलेटर, आक्सीजन कंसेंटेटर शामिल है, जिसकी शुरुआत आज रात से हो जाएगी…सिंगापुर से पहले ही 4 आक्सीजन कंटेनर भारत पहुंच चुके है, हॉन्गकॉन्ग से 1000 कंसेंटेटर भारत पहुंच चुके है, 10000 की आपूर्ति इसी सप्ताह हो जाएगी….!फ्रांस, रूस, जर्मनी, इजराइल ने भी हर मदद पहुंचाने का भरोसा दिलाया है, जल्द से जल्द मेडिकल आपूर्तिया शुरू हो जाएगी….ये पोस्ट खास उन लोगो के लिए जो कहते हैं हमे दूसरे देशों को वैक्सीन नही देना चाहिए थी…..*मदद करोगे तो मदद पाओगे, ताली दोनो हाथ से बजती है*।