डूंगरपुर राजस्थान के डूंगरपुर जिले के रामसागड़ा थाना क्षेत्र के शरम गांव में दिल दहलाने वाली वारदात हुई है. सौतेली मां ने अपने 2 मासूम बच्चों को पहले टब में डूबोकर मार दिया. इसके बाद दोनों बच्चो के शव को दफना दिया, लेकिन चार दिन महिला ने बच्चों को मारने की वारदात करना कबूल कर लिया. पुलिस ने महिला को हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है.पुलिस के अनुसार शरम गांव निवासी बद्री फेरा की पहली पत्नी उसे छोड़कर नाते चली गई थी, जिससे उसके एक 3 साल का बेटा विशाल व 5 साल की बेटी निशा है. पत्नी के नाते जाने के बाद बद्री भी दुर्गा को नाता विवाह करके अपने घर पर ले आया. पहली पत्नी के दोनों बच्चों को भी सौतेली मां ही पालन पोषण करने लगी. लेकिन 2 साल बाद दुर्गा ने दोनों बच्चों को बड़ी बेरहमी से मार डाला.गयाघटना 3 जून की है. दुर्गा और उसके दोनों बच्चे घर पर ही थे. इस दौरान दुर्गा ने मासूम विशाल व निशा को पानी से भरे प्लास्टिक टब में डूबोकर मार दिया. इसके बाद दोनों बच्चों की एक सामान्य मौत बताकर उनके शव को दफना दिया. दो दिन बाद 5 जून को दुर्गा घर से गायब हो गई और दूसरे दिन सुबह वापस घर लौटी तो उसने घर वालों के सामने बच्चों को मारने की पूरी घटना बयां कर दी.घटना की सूचना पर आज सोमवार को रामसागड़ा थाना पुलिस मौके पर पंहुची और घटना की जानकारी ली. वहीं एसडीएम की मौजूदगी में दफनाए गए दोनों बच्चों के शव को बाहर निकलवाया गया. शव पुराने होने से सड़ गल गए हैं और बदबू आने लगी. मामले में पुलिस ने आरोपी सौतेली मां को हिरासत में ले लिया है. वहीं पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

IMG 20210608 110213
IMG 20210608 110226