मन की बात: पीएम मोदी ने कहा लोकल खिलौनों के लिए वोकल बनना है, साथ ही और भी…

0
24

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज 68वें संस्करण में देशवासियों से मन की बात की। पीएम मोदी ने आज देशवासियों से इस दौरान आपदा प्रबंधन और बचाव मिशन में कुत्ते महत्वपूर्ण भूमिका के साथ ही हेल्दी खाने, आत्मनिर्भर भारत और देश के निर्मित चिंगारी, स्टेप सेट गो सहित कई ऐप के बारें में बताया।

साथ ही पीएम मोदी ने एक बार फिर लोकल वोकल की बात कहीं। उन्होंने कहा कि हमारे देश में लोकल खिलौनों की बहुत समृद्ध परंपरा रही है। देश में कई ऐसे कुशल कारीगर और प्रतिभावान युवा है जो बहुत अच्छे खिलौने के साथ मिट्ठी के बर्तन आदि तैयार करते है। इनका बोल बाला देश में ही नही बल्कि विदेशों में भी है। उन्होंने कहा कि भारत के कुछ क्षेत्र टॉय क्लस्टर यानी खिलौनों के केंद्र के रूप में भी विकसित हो रहे हैं। पीएम ने बताया कि ग्लोबल टॉय इंडस्ट्री 7 लाख करोड़ से भी अधिक की है। लेकिन इसमें भारत की हिस्सेदारी काफी कम है। उन्होंने कहा कि जिस राष्ट्र के पास इतने कुशल कारीगर, इतने विरासत हो, परंपरा हो, क्या खिलौनों के बाजार में उसकी हिस्सेदारी इतनी कम होनी चाहिए।

साथ ही इस मौके पर पीएम ने देश के शिक्षकों भी याद किया। उन्होंने कहा कि पांच सितंबर को हम शिक्षक दिवस मनायेगें। हम सब जब अपने जीवन की सफलताओं को अपनी जीवन यात्रा को देखते है तो हमें अपने किसी न किसी शिक्षक की याद अवश्य आती है। इसके अलावा उन्होंने इस भीषण महामारी में देशवासियों के संयम भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि कोरोना के दौर में घर में रहते हुए उत्सव मनाए जा रहे हैं। लोग अपना और लोगों का ध्यान रखते हुए अपना काम कर रहे हैं। जिस तरह का संयम देखा जा रहा है, वह अभूतपूर्व है। गणेशोत्सव ऑनलाइन मनाया जा रहा है। इको फ्रेंडली गणेश की प्रतिमा स्थापित हुई हैं।

इनके अलावा पीएम मोदी ने देश के अन्नदाताओं किसानों के बारें में भी चर्चा की। उन्होंने अन्नानां पतये नमः, क्षेत्राणाम पतये नमः मंत्र के जरिए अन्नदाता को नमन किया। उन्होंने कहा कि किसानों ने कोरोना जैसे कठिन समय में अपनी ताकत को साबित किया है। हमारे देश में इस बार खरीफ की फसल की बुआई पिछले साल के मुकाबले 7 प्रतिशत ज्यादा हुई है।

बता दें कि पीएम ने इस दौरान कई ओर बातों पर चर्चा की। मन की बात के 67वें संस्करण में पीएम मोदी ने कोरोना से सावधान रहने और बहादुर जवानों को याद करने को कहा था। साथ ही लोगों से बीमारियों से सतर्क रहने की अपील की थी।