मंत्री रघु शर्मा ने मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए दिए विशेष निर्देश कहा मच्छरों की रोकथाम के लिए…

0
207

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। प्रदेश में जिस तेजी के साथ कोरोना का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। वैसे वैसे प्रदेश की गहलोत सरकार कोरोना महामारी को रोकने के लिए सख्त से सख्त कदम उठा रही है। साथ ही प्रदेश के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा मंत्री डॉक्टर रघु शर्मा भी रोज कोरोना की अपटेड लेते नजर आ रहे है।

बहरहाल इसी बीच चिकित्सा मंत्री शर्मा ने कहा कि इस समय कोरोना महामारी के साथ साथ प्रदेश में वर्षा से प्रभावित स्थानों पर डेंगू, मलेरिया एवं चिकनगुनिया के मामलें बढ़ी तेजी के साथ बढ़ रहे है। ऐसे में मंत्री शर्मा ने इसको रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए विभाग के अधिकारियों को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिये हैं।

साथ ही उन्होंने कहा कि वर्षा के मच्छरों की संख्या काफी हो गई है, जो बीमारियों का घर है। ऐसे में मच्छरों की रोकथाम के लिए एन्टीलार्वा गतिविधियों पर अधिक ध्यान देने एवं मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए पानी के ठहराव वाले स्थानों पर एमएलओ डलवाने के भी निर्देश दिये। उन्होंने पीने के पानी के टांकों में टेमीफोस दवा डलवाने की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिये हैं। उन्होंने सभी जिलों में गम्बूशिया मछलियां तालाब एवं टांको में डलवाने के लिए भी कहा है। साथ ही बुखार से पीड़ित रोगियों की त्वरित जांच एवं उपचार करने के साथ ही आउटब्रेक की स्थिति में आवश्यक दवाईयां एवं चिकित्सकीय दल (रैपिड रेस्पोंस टीम) आदि की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए भी कहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए क्लोरीन, ब्लीचिंग पाउडर, ओ.आर.एस. आदि की स्वास्थ्य उपकेन्द्रों तक उपलब्धता, पेयजल स्रोतों के क्लोरीनेशन, पेयजल के नमूनों की जांच, रेपिड रेस्पोन्स टीम के गठन एवं रक्त तथा अन्य नमूनों की जांच के लिए प्रयोगशालाओं की व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी।