भीलवाड़ा पप्पू भैया, फेला घर में कोरोना पेसेंट होने से सेनेटाइजेशन करवाना है, पेसेंट को हॉस्पिटल पहुंचाना है, किसी का दाह संस्कार करवाना है, किसी को खाना पहुंचाना है, मास्क, राशन या और कोई जरूरत का सामान पहुंचाना है तो पप्पू भैया हाजिर है। बस कॉल आने की देर है, पप्पू भैया अपने चिरपरिचित सेवा भावना वाले अंदाज के साथ तुरंत पहुंच जाते हैं।यह फितरत है शिव सेवा समिति के अनिल जैन उर्फ “पप्पू भैया” की। अनिल जैन ने सुभाष नगर, बड़ी पुलिया स्थित शिव मंदिर को कोरोना के खिलाफ वॉर रूम में परिवर्तित कर दिया है और वे पिछले एक साल से कोरोना को हराने में योद्धा की भूमिका निभा रहे हैं।सुबह 5 बजे से मंदिर परिसर में नीम-गिलोय का आयुर्वेदिक काढ़ा 300-400 लोगोँ को पिलाने के बाद पप्पू भैया सेनेटाइजेशन करने, गरीब असहाय व जरूरतमंद लोगों को भोजन पैकेट राशन किट पहुंचाने, कोरोना या अन्य मरीजों को हॉस्पिटल सुविधा उपलब्ध कराने के साथ ही किसी भी तरह की गुहार आने पर हरसंभव मदद को तैयार रहते हैं।वर्षो पूर्व नादानी में हुई भूल के प्रायश्चित स्वरूप अपने जीवन को परिवर्तित कर जन सेवा में झोंकने वाले अनिल को साधारण घर परिवार से होने के बावजूद कभी आर्थिक कमी से नहीँ जूझना पड़ा है। अपने पैसों को सही जगह इस्तेमाल होते देख कई लोग मदद को तैयार रहते हैं। पप्पू भैया तुम काम करो मदद को हम तैयार है की भावना लेकर क्षेत्रीय पार्षद धर्मेंद्र पारीक, दिनेश मेहता, कैलाश ईनाणी, इंद्रा जैन सहित कई लोग अनिल की टीम से जुड़े हैं।कोरोना काल मे सेवा के दौरान अनिल को कई बार जान भी जोखिम में डालनी पड़ी तो दशियो संस्थाओं उन्हें सम्मानित भी किया गया। पर इन सब से परे अनिल कोरोना काल के अलावा भी हर समय जरूरतमन्दों की सेवारत रहते है।

IMG 20210507 122103

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here