वस्त्र नगरी भीलवाड़ा में कोरोनावायरस की दूसरी लहर पूरी तरह से बेकाबू होकर शहर सहित जिले में कोहराम मचा रखा है और पिछले 20 दिनों में भीलवाड़ा में 9000 पॉजिटिव रोगी आए तथा पिछले 24 घंटे में 15 संक्रमित रोगियों की मौत हो गई है भीलवाड़ा में पॉजिटिव रोगियों के सैंपल के अनुपात में बढ़ने का प्रतिशत 23 फ़ीसदी है ।

दूसरी ओर आरआरटी प्रभारी एवं डिप्टी सीएमएचओ डॉ घनश्याम चावला ने आंकड़ों को लेकर जानकारी चाहने पर फोन उठाकर जवाब देना बिल्कुल बंद कर दिया है ।भीलवाड़ा में कोरोनावायरस की दूसरी लहर ने शहर सहित जिले में 6 अप्रैल से ही अपना रूप दिखाना शुरू कर दिया था और 9 अप्रैल से तो वायरस का रौद्र रूप लगातार जारी है और 9 अप्रैल से लेकर 27 अप्रैल तक इन 20 दिनों मेंचिकित्सा विभाग द्वारा कुल 37 899 कोरोनावायरस सैंपल की जांच की गई जिनमें 8880 पॉजिटिव आए ।इस तरह जितने सैंपलों की जांच की गई और इनमें निकले पॉजिटिव रोगी संख्या को अनुपात में देखा जाए तो 23% पॉजिटिव निकले हैं जो कि एक बहुत बड़ा आंकड़ा हैभीलवाड़ा शहर में 24 घंटों के दौरान यानी कि कल रात तक कोरोना से संक्रमित 15 रोगियों की मौत हो गई हालांकि चिकित्सा विभाग द्वारा इसकी अधिकृत पुष्टि नहीं की है लेकिन पंचमुखी मोक्ष धाम समिति के सचिव और शास्त्री नगर व गांधीनगर मोक्ष धाम के ट्रस्टी बाबूलाल जाजू ने इसकी पुष्टि करते हुए यह जानकारी देते हुए बताया कि बुधवार शाम तक पंचमुखी मोक्ष धाम मैं 13कोरोना संक्रमित मृतकों का तथा शास्त्री नगर मोक्ष धाम में एक संक्रमित सबका और गांधीनगर मोक्ष धाम में एक संक्रमित सबका अंतिम संस्कार हुआ ।आरआरटी प्रभारी डिप्टी सीएमएचओ डॉ चावला चिकित्सा मंत्री शर्मा से भी ऊपरकोरोना काल में संक्रमित रोगियों से संबंधित सारी जानकारी के लिए सीएमएचओ डॉक्टर मुस्ताक खान ने डिप्टी सीएमएचओ डॉ घनश्याम चावला को आर आईटी टीम का प्रभारी बना रखा है डॉ चावला की जिम्मेदारी हैकि वह पॉजिटिव रोगियों के आने की सूचना के साथ साथ संक्रमण से ठीक होकर अपने घरों को लौटे रोगियों की संख्या भी सार्वजनिक करें ताकि आमजन में एकसकारात्मक संदेश जाए इस संबंध में हमारे द्वारा पिछले 4 दिन से लगातार कि कितने संक्रमित रोगी स्वस्थ होकर घर लौटे हैं इस संबंध में आंकड़ों के लिए उनको फोन कियालेकिन वह फोन उठाने की जहमत नहीं उठा रहे हैं जबकि दूसरी और राजस्थान के चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा स्वयं पत्रकारों मीडियम को टेलीफोन एबीसी के माध्यम सेआंकड़ों की जानकारी दे रहे हैं इससे ऐसा लगता है कि भीलवाड़ा के डॉक्टर चावला चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा से भी ऊपर हैं की उनके पास जबाव दाने का समय नही है या फिर….