भारत चीन के बीच जब चल रही थी मॉस्को में मीटिंग तब दोनों तरफ से हुए सैकड़ों राउंड हवाई फायर…

0
63

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। भारत ओर चीन के बीच सीमा विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। हालांकि दोनों देशों की सरकारें इस मसले को सुलझाने के लिए प्रयत्न करती हुई नजर आ रही है। लेकिन फिलहाल कोई भी नतीजा सामने आता नजर नहीं आ रहा है। इसी बीच हाल ही में एक बड़ा खुलासा सामने आया है।

सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार भारत-चीन के बीच पिछले हफ्ते पैंगॉन्ग झील इलाके में करीब 100 से 200 राउंड गोलियां चलीं। दोनों देशों के बीच मॉस्को समझौते से पहले यह घटना हुई। भारत-चीन के विदेश मंत्रियों की 10 सितंबर को मॉस्को में हुई मीटिंग से पहले लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के बीच फायरिंग हुई थी। एक समाचार पत्र के माध्यम से जानकारी मिल रही है कि पूर्वी लद्दाख में पैंगॉन्ग झील के उत्तरी छोर पर दोनों तरफ से 100 से 200 राउंड हवाई फायर हुए थे।

जानकारी के अनुसार यह घटना रिजलाइन पर हुई थी, जहां फिंगर-3 और फिंगर-4 के इलाके मिलते हैं। साथ ही इस दौरान कई इलाकों में भारत-चीन के सैनिकों में सिर्फ 300 मीटर का फासला ही रहा। साथ ही जानकारी ये भी मिल रही है कि पैंगॉन्ग इलाके में हुई फायरिंग को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। बहरहाल बता दें कि 29—30 अगस्त को चीनी की ओर से घुसपैठ की कोशिश की गई। लेकिन भारतीय सेना ने उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया। इससे पहले गलवान घाटी में दोनों सेनाओं के बीच हिसंग झड़प हुई। जिसमें भारत के करीब 20 सैनिक मारे गए। वहीं चीन को भी भारी नुकसान हुआ। लेकिन चीन ने उसका खुलासा नहीं किया।