भगवान राम सर्वोत्तम मानवीय गुणों का स्वरूप है: राहुल गांधी

0
525

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की ​नींव रखे जाने के बाद सभी पार्टियों ने खुशी व्यक्त करते हुए अपने बयान व्यक्त किए। इसी बीच हमेशा अपने बयानों के कारण सुर्खियों में छाए रहने वाले कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और वायनाड़ के सांसद राहुल गांधी ने भी बयान दिया।

सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार बता दें कि राहुल गांधी ने अपने सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए कहा कि अयोध्या के राजा राम मर्यादा पुरुषोत्तम हैं और वह घृणा, क्रूरता और अन्याय में प्रकट नहीं हो सकते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि भगवान राम सर्वोत्तम मानवीय गुणों का स्वरूप है। वे हमारे मन की गहराइयों में बसी मानवता की मूल भावना हैं। श्रीराम प्रेम, करुणा और न्याय के प्रतीक हैं।

साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि राम प्रेम हैं, वे कभी घृणा में प्रकट नहीं हो सकते। राम करुणा हैं, वे कभी कू्ररता में प्रकट नहीं हो सकते। राम न्याय हैं, वे कभी अन्याय में प्रकट नहीं हो सकते। बता दें कि कई वर्षों के इतिहास के बाद आज वो शुभ घड़ी आ गई। जब अयोध्या में राममंदिर की नींव रखी गई। भूमि पूजन में पीएम मोदी के अलावा राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, संघ प्रमुख मोहन भागवत सहित कई आमंत्रित व्यक्ति शामिल हुए। राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर अयोध्या में पिछले कई दिनों से तैयारियां चल रही थी। अयोध्या में चारों तरफ इस समय भगवा रंग चढ़ा हुआ है।