बारिश के दिनों में कोटरा जाने के लिए पार करनी पड़ती है नदी

0
14

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। बिलखेड़ा डांग ग्राम पंचायत के गांव कोटरा में सहरिया परिवार निवास करते है। यह गांव बॉर्डर पर बसा हुआ है। इस गांव के लोगो को बारिश में निकलना मुश्किल हो जाता है। बारिश में नदी आ जाने के कारण गांव टापू बन जाता है। नदी में पुलिया नही होने के कारण यहाँ के लोग अपनी जान जोखिम में डालकर इसी नदी में होकर निकलते है। इस कारण दुर्घटनाएं भी होती रहती है। इस गांव में आने जाने के लिए आवागमन के साधन भी नही है। क्योंकि इस गांव में प्रवेश करने से पहले नदी पड़ती है। नदी में पुलिया नही है। बारिश के मौसम में नदी में पानी भरा रहता है। वही अन्य मौसम में भी लोग नदी में होकर आते जाते है। वाहन भी इसी नदी से होकर निकलते है चाहे दुपहिया हो या चार पहिया हो इसी में होकर निकलते है। शाहाबाद ब्लॉक का यह गांव अंतिम छोर पर बसा हुआ है। यहाँ के लोगो के पास आज भी कई सुविधाओं का अभाव है। इस गांव में मोबाइल नेटवर्क भी नही आता है। जिस कारण लोगो का संपर्क भी नही होता है। गांव वालों का कहना है कि ऊंचाई पर जाकर बात करना पड़ता है। तब जाकर बात हो पाती है। जाग्रत महिला संगठन की महिला कार्यकर्ताओ ने सार्वजनिक निर्माण विभाग को अवगत करवाकर नदी में पुलिया निर्माण करवाने की मांग की है।