बहन की शादी के कार्ड बांटने गए पुलिसकर्मी की हादसे में हो गई थी मौत, साथी पुलिसकर्मियों ने बहन के हाथ पीले कर दी दोस्ती की मिसाल….

0
38

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क।  राजस्थान के भरतपुर जिले में राजस्थान पुलिस ने आगे आकर दोस्ती की एक बड़ी मिसाल पेश की है। कस्बा निवासी सवाई माधोपुर कोतवाली में कार्यरत कॉन्स्टेबल रामेंद्र सिंह की 19 जून को बहन की शादी के कार्ड बांटते समय सड़क हादसे में मृत्यु हो गई थी। बहन की 30 मई मंगलवार को शादी थी। साथी पुलिसकर्मियों ने 12 दिन पहले सड़क हादसे में जान गंवाने वाले अपने साथी पुलिसकर्मी की मौत को नहीं भूलाया और बहन की सामाजिक सरोकार निभाते हुए विवाह करने का फैसला किया। 

इस पुण्य के कार्य के लिए पुलिसकर्मी दौलत सिंह चौधरी, प्रेम सिनसिनी, सभी साथी पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर सवाई माधोपुर और भरतपुर जिले के पुलिसकर्मियों की मदद से 8 लाख रुपए की नकद राशि एकत्रित की। शादी में 2 लाख 21 हजार रुपए की नकदी, डेढ़ लाख रुपए के जेवरात, फर्नीचर का पूरा सामान, बर्तन, घरेलू सामान और दावत का पूरा खर्चा साथी पुलिसकर्मियों ने उठाया। इतना ही नहीं मृतक साथी की मां के नाम 3 लाख रुपए की एफडी भी कराई। पुलिसकर्मियों ने जब भाई बनकर मृतक साथी की बहन की शादी की पूरी व्यवस्था की तो मां और बेटी दोनों की आंखें भर आई। बता दें कि मृतक कॉन्स्टेबल रामेंद्र सिंह के पिता की 5 साल पूर्व मौत हो चुकी है। उनकी पांच बहने हैं। रामेंद्र पर ही पूरे परिवार के भरण-पोषण की जिम्मेदारी थी। रामेंद्र ने अपनी छोटी बहन का रिश्ता तय कर दिया था जिसकी शादी 30 जून को तय हुई थी। परिवार की आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण मृतक पुलिस कॉन्स्टेबल रामेंद्र ने बैंक में ऋण के लिए आवेदन कर रखा था।