बराला हॉस्पिटल के स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग ने रचा एक नया कीर्तिमान, महिला ने दिया तीन जुड़वा बच्चों को जन्म

0
1095

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। चौमू क्षेत्र के राधास्वामी बाग स्थित बराला हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेन्टर में रैगरो के मोहल्ले की गीता देवी को समय से पहले ही प्रसव पीड़ा होने पर बराला हॉस्पिटल के स्त्री एवं प्रसूति विभाग में भर्ती काराया गया। जहां वरिष्ठ स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉक्टर दीपिका चौधरी बराला व डॉक्टर शिखा मील बराला द्वारा महिला को समय से पहले ही प्रसव पीड़ा होने व सामान्य प्रसव की स्थिति ना बनने पर उत्पन्न क्रिटिकल स्थिति को ध्यान में रखते हुये महिला का सफलतापूर्वक सिजेरियन प्रसव करवाया गया।

महिला ने प्रसव के दौरान जुड़वाँ तीन लड़को को जन्म दिया। समय से पहले प्रसव होने के कारण तीनों बच्चो का वजन कम होने व कुछ अस्वस्थ होने पर शिशु एव बाल रोग विभाग के अनुभवी वरिष्ठ विशेषज्ञ डॉक्टर मयंक शर्मा की देखरेख में तीनों बच्चो को नवजात शिशु आई.सी.यू. में भर्ती कराया गया है, जहां उनका ईलाज चालू है।

डॉक्टर मयंक शर्मा ने बताया कि तीनों बच्चों का समय से पहले जन्म होने की वजह से इनका वजन बहुत कम था साथ ही बच्चों में श्वास लेने में परेशानी होना, इन्फेक्शन (NFC) होने जैसी कई समस्याएँ आ सकती हैं। जिसके लिए ट्रसरी लेवल की NICU सुविधाएं होना आवश्यक हैं। जो बराला हॉस्पिटल में उपलब्ध हैं। शुरुआत में उक्त बच्चो को श्वास लेने में ज्यादा दिक्कत हो रही थीं। इसलिए इन्हें श्वास की मशीन पर रखा गया और एक SURFACTANT नामक दवाई दी गई जो फेफड़ों को फूलने में सहायता करती है।

नवजात तीनों बच्चों के पिता सुनील कुमार ने बताया कि बराला हॉस्पिटल की उच्च स्तरीय NICU सुविधाओं, अनुभवी विशेषज्ञ डॉक्टर दीपिका चौधरी बराला, डॉक्टर शिखा मील बराला व डॉक्टर मयंक शर्मा और NICU की अनुभवी टीम के सजग और सतत प्रयासों से हमारे घर खुशियाँ आई। जिसके लिए में डॉक्टर दीपिका चौधरी बराला, डॉक्टर शिखा मील बराला, डॉक्टर मयंक शर्मा व NICU टीम तथा बराला हॉस्पिटल के समस्त स्टाफ का धन्यवाद करता हूँ। जिनकी बेहतर सेवाओं की बदौलत आज तीनों बच्चो को पूर्ण स्वस्थ होने पर घर भेजा गया।