भाजपा युवा मोर्चा महामंत्री गिरफ्तार: फर्जी पट्टा बनाने के आरोप में सायला के पूर्व सरपंच और भाजपा के युवा मोर्चा महामंत्री को पुलिस (Police) ने किया गिरफ्तार (Arrest)

सायला के पूर्व सरपंच (Former Head) और जालोर भाजपा (BJP) युवा मोर्चा के जिला महामंत्री सुरेश पुरोहित को एक फर्जी पट्टा बनाने के जुर्म में जालोर डिप्टी हिम्मतसिंह ने गिरफ्तार कर लिया हैं।
चाल चरित्र और चेहरे की दुहाई देने वाले एक नेताजी ही अगर धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार हो जाए तो आप क्या कहेंगे? जी हाँ, राजनीति के हर मंच पर राष्ट्रवाद और चाल चरित्र की बड़ी बड़ी बातें करने वाले सायला के पूर्व सरपंच और जालोर भाजपा युवा मोर्चा के जिला महामंत्री सुरेश पुरोहित को फर्जी पट्टा बनाने के जुर्म में जालोर डिप्टी हिम्मतसिंह ने गिरफ्तार कर लिया हैं।
जानकारी के मुताबिक, गत वर्ष अक्टूबर माह में सायला गांव निवासी बलवन्तसिंह ने सायला थाने में एक लिखित रिपोर्ट पेश कर मामला दर्ज करवाया था। इसमें सायला के पूर्व सरपंच सुरेश पुरोहित सहित 6 लोगों के खिलाफ एक फर्जी पट्टा बनाने के आरोप लगाए गए थे। चूंकि इससे पहले बलवंत सिंह के विरुद्ध एससी (SC) एसटी (ST) एक्ट में एक मामला दर्ज हो चुका था इसलिए इस मामले की जांच भी जालोर डिप्टी के हवाले की गई थी। जालोर डिप्टी ने पूरे मामले की तफ्तीश कर सायला के पूर्व सरपंच सुरेश पुरोहित को दोषी मानते हुए गिरफ्तार कर लिया हैं।

ये हैं पूरा मामला
सायला थाने में दर्ज करवाए गए इस मुकदमे में परिवादी बलवन्तसिंह ने आरोप लगाया था कि उसके ख़रीदशुदा प्लॉट जिसकी रजिस्ट्री सायला उप पंजीयन कार्यालय में हुई थी। इसका ग्राम पंचायत सायला द्वारा वर्ष 2013 में पट्टा संख्या 2359 जारी किया गया था। लेकिन सायला के पूर्व सरपंच सुरेश पुरोहित, सायला ग्राम पंचायत के तीन तत्कालीन वार्ड पंचों ने दो अन्य लोगों से मिलीभगत कर अपने पद का दुरुपयोग करते हुए पट्टे के ऊपर वर्ष 2019 में दूसरा पट्टा संख्या 29 जारी कर दिया। इस पूरे मामले में बड़ी रकम के लेनदेन का भी आरोप (Blame) लगाया गया था। इसकी जांच जालोर (Jalore) डिप्टी ने की और सायला के पूर्व सरपंच सुरेश पुरोहित को गिरफ्तार कर लिया गया हैं।

फर्जी पट्टे के कई मुकदमे दर्ज
गिरफ्तार(Arrest) किए गए सायला के पूर्व सरपंच (Former Head) सुरेश पुरोहित पर फर्जी पट्टे बनाने व प्लॉट पर कब्जा कर मारपीट के दो और मामले सायला थाने में दर्ज हैं। जिसमें एक मामला दादाल निवासी रामलाल पुत्र टीकमचंद जैन ने दर्ज कर आरोप लगाया हैं कि उसके खरीद शुदा प्लॉट के कूटरचित दस्तावेज बनाकर पूर्व सरपंच सुरेश पुरोहित ने अपनी सगी बुआ के नाम से पट्टा जारी कर अपने पद का दुरुपयोग किया हैं। वहीं दूसरा मामला सायला निवासी मांगीलाल पुत्र छोगालाल जैन ने दर्ज करवाकर आरोप लगाया हैं कि उनके खरीद शुदा प्लॉट के दरवाजे को तोड़कर पूर्व सरपंच सुरेश पुरोहित व उनके साथियों ने कब्जा करने की नीयत से प्लॉट में खड़ी बबुल की झाड़ियां काट ली साथ ही दरवाजे पर रंग से उनका नाम भी लिख दिया। जब उनसे समझाइश करने गए तो उनके साथ मारपीट भी की। दोनो ही मामलों में सायला पुलिस जांच कर रही हैं।

गिरफ्तारी के डर से पूर्व सरपंच हो गया था फरार
सायला का पूर्व सरपंच (Former Head) सुरेश पुरोहित इस मामले में गिरफ्तारी (Arrest) के डर से पिछले कुछ दिनों से फरार हो गया था। इसको लेकर पुलिस इसकी लगातार तलाश कर रही थी। वही पुलिस (Police) को जब सुरेश पुरोहित के एक निजी होटल में छुपे होने की जानकारी मिली तो जालोर डिप्टी हिम्मतसिंह की टीम ने होटल में दबिश देकर आरोपी पूर्व सरपंच (Former Head) को गिरफ्तार (Arrest) कर लिया हैं।

रिपोर्ट: मेहबूब राजड़