न्याय के लिए दर-दर भटकता ब्राह्मण परिवार झूठे आरोप लगा कर मंदिर से निकला बाहर, प्रशासन बना मूक दर्शक!

0
10

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। मुरलीपुरा बीड़ स्कूल खेतान हॉस्पिटल के पास शिव मंदिर में पिछले 10 वर्षों से राकेश शर्मा पंडित पूजा पाठ व पूरे मंदिर की देखभाल पूर्ण रूप व नियम से कर रहा था। यही बात कुछ दबंग लोगों को अच्छी नहीं लगी और अपना जाल बिछाने के लिए दिनांक 13/12/2019 को निर्दलीय पूर्व पार्षद शंकर लाल सैनी अपने साथियों के साथ आकर पंडित के साथ दुर्व्यवहार किया व साथ ही झूठे आरोप लगाकर उन्हें मंदिर से बाहर निकाल दिया व साथ ही उनके परिवार में उनकी दो मासूम बेटियां व उनकी धर्मपत्नी मधु शर्मा उनके साथ भी अभद्र व्यवहार किया गया।

क्या महिलाओं के साथ बदसलूकी करना सही है? जब मामला पुलिस थाना विद्याधर नगर तक पहुंचा तो विद्याधरनगर पुलिस थाने द्वारा पंडित को ही पाबंद कर दिया गया। इस पूरे घटनाक्रम में पंडित के पूरे घर का सामान मंदिर के अंदर बनी कोठरी में ही रह गया। कोठरी से सामान भी नहीं निकला गया और कोठरी में ताला लगा दिया गया। इस दरमियान पंडित के द्वारा कई बार अपने सामान को लेकर थाने में भी गुहार लगाई गई। वह एसपी को भी गुहार लगाई गई पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। अगर पंडित को पूजा पाठ के लिए नहीं रखना था तो उसे हटाया भी का सकता था। लेकिन अपना दबदबा व प्रभाव दिखा कर किसी गरीब ब्राह्मण परिवार को बेघर करना कहां की दबंगाई है। प्रभावशाली शंकर लाल सैनी ने अपने साथियों के साथ मिलकर लॉकडाउन का फायदा उठाते हुए पंडित की कोठरी के ताले तोड़ दिए। वह साथ ही सारा सामान खुर्द बूर्द कर दिया। पंडित को कॉलोनी वालों के बताने पर ही पंडित को मालूम हुआ कि ताले टूट गए हैं तो पंडित द्वारा फिर से पुलिस को इत्तला दी गई। मगर फिर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। अंत में थक हार कर मधु शर्मा द्वारा जयपुर पुलिस कमिश्नर को ज्ञापन देकर न्याय की गुहार लगाई। अब देखना है की पंडित को न्याय मिलता है या?