नई दिल्ली:देशभर में कोरोना से स्थिति भयावह होती जा रही है और कोरोना यमराज बंद कर आमजन पर टूट रहा है कोरोना के संक्रमण में ऑक्सीजन सबसे बड़ी जीवनदायिनी के रूप में मानी जा रही है ।लेकिन देशभर में ऑक्सीजन की कमी पॉजिटिव रोगियों की जान के लिए मुसीबत बन गई है और ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार मचा है। मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिल रही है, जिससे उनकी जान जा रही है। ऑक्सीजन का संकट सबसे ज्यादा देश की राजधानी दिल्ली में है। दिल्ली के बड़े अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से 24 घंटे मे 25 कोरोना पॉजिटिव रोगियों की मौत हो गई है । ऑक्सीजन की कमी का हाल राजस्थान मे भी है ।दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल के चिकित्सा निदेशक के अनुसार ऑक्सीजन की वजह से अस्पताल में पिछले 24 घंटे में 25 मरीजों की मौत हो गई है। ऑक्सीजन 1 और 2 बजे तक चलेगी। वेंटिलेटर और बीआईपीएपी मशीनें भी प्रभावी रूप से काम नहीं कर रही हैं। तथा ऑक्सीजन कच कमी पूरी नही हुई तो गंभीर रूप से बीमार अन्य 60 मरीजों की जान भी खतरे में हैं और गंभीर संकट की आशंका है। ऑक्सीजन की तत्काल आवश्यकता है।मैक्स स्मार्ट अस्पताल और मैक्स अस्पताल साकेत में एक घंटे से भी कम ऑक्सीजन की आपूर्ति होगी। रात 1 बजे से INOX से ताजा आपूर्ति का इंतजार किया जा रहा है। हालांकि जानकारी मिली है कि मैक्स अस्पताल में अगले 3 से 5 घंटे के लिए ऑक्सीजन पहुंच गई है। मैक्स हेल्थकेयर ने कहा है कि 700 से अधिक रोगियों को भर्ती कराया गया।