…तो इस कारण संसद मानसून सत्र में इस बार नहीं होगा प्रश्नकाल!

0
189

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। कोरोना संकट के बीच अब 14 सितंबर से संसद का मानसून सत्र शुरू होने जा रहा है। कोरोना संकट के बीच होने वाले मानसून संसद सत्र में इस बार कोरोना महामारी के बीच विशेष प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा।

सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार संसद का मानसून सत्र शुरू होने से पहले हाल ही में लोकसभा सचिवालय की ओर से एक अधिसूचना जारी हुई। जिसमें बताया गया हैं कि, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 14 सितंबर को सुबह नौ बजे निचले सदन की बैठक बुलाएंगे। वहीं, राज्यसभा की बैठक भी उसी दिन अलग समय पर बुलाई जाएगी।

साथ ही एक खास खबर यह भी मिल रही है कि कोविड19 महामारी के चलते इस बार मानसून सत्र में प्रश्नकाल नहीं किया जाएगा। सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार राज्यसभा सचिवालय की ओर से जारी की गई एक अधिसूचना में बताया गया कि इस बार देश में कोरोना महामारी के चलते मानसून सत्र में कोई प्रश्नकाल नहीं होगा। इसी के साथ ये पहली बार है जब संसद की कार्यवाही में प्रश्नकाल नहीं किया जा रहा। बता दें कि प्रश्नकाल संसदीय कार्यवाही में खासा अहम माना जाता है, क्योंकि इसके जरिए सरकार को अपनी जिम्मेदारी तय करने में मदद मिलती है। हालांकि शून्यकाल और दूसरी कार्रवाई सदन की अनुसूची के आधार पर आयोजित की जाएंगी। बता दें कि 14 सितंबर से शुरू होने वाला मानसूत्र एक अक्टूबर को खत्म होगा।