जोबनेर- प्रदेश भर में वैश्विक महामारी कोरोना काल में खाकी ने बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए कई पुलिसकर्मी खुद भी कोरोना से संक्रमित हो गए। इसके बावजूद भी राजस्थान पुलिस के जवानों और अधिकारियों का जोश अपने कर्तव्य के प्रति बिल्कुल भी कम नहीं हुआ। वही कोरोना काल में राजस्थान पुलिस के एक पुलिस इंस्पेक्टर ने संगीत को कोरोना से लड़ने का एक अचूक हथियार बना डाला। जयपुर ग्रामीण के जोबनेर थानाधिकारी जोगेंद्र सिंह राठौर ने ना केवल गाने के कंपोज किए बल्कि उन्हें अपनी सुरीली आवाज में राम करे ऐसा हो जाए यह बीमारी जड़ से मिट जाए गीत गाकर कोरोना से बचाव के लिए लोगों को जागरुक भी किया। थानाधिकारी जोगिंदर सिंह राठौर ने बताया कि कोरोना काल के शुरुआत में काम अधिक होने के चलते किसी भी तरह की एक्टिविटी को कर पाना बेहद मुश्किल था। राजस्थान पुलिस के अनेक पुलिसकर्मियों ने कोरोना को लेकर गाने गाए। जिसे देखकर काफी पुलिसकर्मी मोटिवेट हुए। जानकारी के अनुसार जोगेंद्र सिंह राठौर काफी लंबे समय से गाना गाने का शौक रखते हैं। राठौड़ ने कहा कि पुलिस कर्मियों के पास कामकाज ज्यादा रहता है इसलिए अधिकतर पुलिसकर्मी तनाव में ज्यादा रहते हैं। घर परिवार की भी ऊपर जिम्मेदारी रहती है। लेकिन उन्होंने कहा कि हर अधिकारी और पुलिसकर्मी की एक हॉबी होती है। किसी की खेलों के प्रति रहती है किसी की संगीत के प्रति रहती है। लेकिन संगीत व्यक्ति का मनोबल बढ़ाने का काम करता है। कोई भी व्यक्ति अपना मनपसंद संगीत सुनता है तो उसको मोटिवेशन मिलता है,थोड़ा आराम मिलता है। जिससे मानसिक शांति मिलती है। इसीलिए साथी पुलिसकर्मियों और जनता को मोटिवेशन करता रहता हूं। जिससे साथी पुलिसकर्मियों का मनोबल बढ़ता है। उन्होंने कहा कि उच्च अधिकारियों के निर्देशन में रोजाना फ्लैग मार्च निकालकर कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करते हैं और पुराने गानों पर नए कंपोज कर कोरोना बचाव के बारे में कंपोज किए गानों को सोशल मीडिया के माध्यम से भी लोगों के पास भेज कर संदेश दे रहे हैं। जोगिंदर सिंह राठौर पिछले लंबे समय से घर नहीं गए और थाने पर ही रहकर गाने कंपोज किए। उन्होंने यूट्यूब और फेसबुक के अलावा व्हाट्सएप पर भी गाने अपलोड किए। जिससे लोगों ने काफी पसंद किया। जोगेंद्र सिंह ने बताया कि पुलिस पर चाहे कितना भी तनाव आए और चाहे कितनी ही मुश्किल चुनौती हो पुलिस उसे हमेशा पॉजिटिव ही लेती है। ड्यूटी के दौरान अनेक पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हुए और फिर स्वस्थ होकर ड्यूटी पर लौटे, जिन्हें देखकर अन्य पुलिस कर्मियों का जोश और भी बढ़ गया। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी अपनी सोच पॉजिटिव रखते हैं और हर काम को पॉजिटिव के साथ ही करते हैं।

IMG 20210506 WA0005