जालौर।भष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने शुक्रवार को जालोर के जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) मोहनलाल मेघवाल व दो अन्य को 30 हजार रुपए की रिश्वत लेने के मामले में हिरासत में लिया है। इन लोगों ने एक प्राइवेट स्कूल की जांच रिपोर्ट सही देने की एवज में रिश्वत की मांग की थी।एसीबी की डीआईजी विष्णुकांत ने बताया कि जालोर जिले के भाद्राजून में संचालित प्राइवेट स्कूल सरस्वती विद्या मंदिर के कार्यालय प्रभारी पंकज व्यास ने कल जालोर कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई थी। उसने बताया कि कुछ दिन पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी मेघवाल व लेखाधिकारी बसंत कुमार शाह एक टीम के साथ स्कूल की जांच करने आए थे। इन दोनों ने जांच रिपोर्ट एकदम सही देने के बदले तीस हजार रुपए की रिश्वत की मांग की है।

IMG 20210618 WA0021

30 हजार लेकर दफ्तर में ही बुला लियाएसीबी ने कल ही शिकायत का सत्यापन कर लिया और आज पकड़े जाने की प्लानिंग की। इसके अनुसार पंकज आज तीस हजार रुपए लेकर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय पहुंचा। मेघवाल ने उसे तीस हजार रुपए अपने निजी सहायक दिनेश कुमार भट्‌ट को देने को कहा। इस पर उसने यह राशि भट्‌ट को सौंप दी।इसी दौरान पहले से तैयार एसीबी की टीम ने उसे दबोच लिया। उसके बयान के आधार पर एसीबी ने जिला शिक्षा अधिकारी मेघवाल व लेखाधिकारी बसंत कुमार शाह को भी हिरासत में ले लिया। इन तीनों से पूछताछ की जा रही है।