जलदाय विभाग के एक अधिकारी की कारगुजारी के चलते मंत्री बीडी कल्ला को होना पड़ा शर्मसार

0
169

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। सरदारशहर में राजस्थान के जलदाय विभाग के मंत्री बीडी कल्ला अपने ही विभाग के एक अधिकारी की गुंडागर्दी के चलते सवालों के घेरे में घिर गए है। इस दौरान मंत्री को जवाब देते नहीं बना व अधिकारी की कारगुजारी के चलते शर्मसार होना पड़ा। दरअसल हनुमानगढ़ से जयपुर जा रहे प्रदेश सरकार में जलदाय मंत्री बीडी कल्ला अल्प समय के लिए सरदारशहर रुके। इस दौरान कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया। कार्यक्रम के बाद पत्रकारों को बीडी कल्ला ने बताया कि उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था जर्जर हो चुकी है। वहां अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है। राजस्थान ओर उत्तर प्रदेश में सबसे बड़ा फर्क यह है कि अपराध तो कहीं भी हो सकता है। लेकिन राजस्थान में अपराध करने वालों को दंड दिया जाता है, उनका संरक्षण नहीं किया जाता। उत्तर प्रदेश में अपराधियों को संरक्षण दिया जा रहा है।

इस पर स्थानीय पत्रकारों ने उनसे सवाल किए कि सरदारशहर में आपके ही विभाग के एक अधिकारी ने 2 महीने पूर्व एक पत्रकार के साथ मारपीट की व वहां पर ज्ञापन देने आए लोगों के साथ गाली गलौज की और मारपीट की। इस पर क्या कहेगे। इस पर उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा कार्रवाई होगी। इस दौरान पत्रकार ने अपना सवाल फिर दोहराया की आखिर कारवाई कब होगी? इस पर मंत्री बीड़ी कल्ला के पास कोई जवाब नहीं रहा। उन्हें कहा कि जांच रिपोर्ट आने के बाद 1 महीने के अंदर अंदर कार्रवाई होगी। बड़ी बात यह रही कि इस दौरान मंत्री ने उस अधिकारी को पहचानने से इंकार कर दिया। जबकि मारपीट करने वाला अधिकारी खुद मंत्री का स्वागत करने आया था। कहीं ना कहीं ऐसे भ्रष्ट अधिकारी पर कार्रवाई नहीं होना सत्ता में बैठे नेताओं और अधिकारी कि साठ गांठ को दर्शाता है। वहीं ऐसे अधिकारियों के चलते प्रदेश की छवि भी खराब होती है। आखिर गुंडागर्दी करने वाला अधिकारीला आखिर कब तक कुर्सी पर जम बैठा रहेगा। यह भी देखने वाली बात होगी।

बड़ा सवाल यह भी हैैै कि आखिर ऐसे अधिकारियों को संरक्षण कौन दे रहा है।

गौरतलब है कि 22 जुलाई को शहर के काका कॉलोनी के लोग जलदाय विभाग के कार्यालय पानी की समस्या को लेकर ज्ञापन देने पहुंचे थे। इसी दौरान अधिकारी ने एकाएक अपना आपा खो दिया और उन्होंने पानी की समस्या रख रहे लोगों के साथ अभद्र व्यवहार किया, धक्का-मुक्की की। इस दौरान गुंडागर्दी करने वाले अधिकारी ने पत्रकार के साथ भी मारपीट की व कैमरा छीनने की कोशिश की। इसके बाद गुंडागर्दी करने वाले अधिकारी पर जांच बेठी। लेकिन गुंडागर्दी करने वाले अधिकारी पर कांग्रेस राज्य में कार्रवाई आज तक नहीं हुई। जबकि गुंडागर्दी का वीडियो भी जमकर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया नेता, उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ व हनुमान बेनीवाल सहित कई सांसदों, विधायकों ने तुरंत प्रभाव से गुंडागर्दी करने वाले अधिकारी को बर्खास्त करने की मांग की थी।

पहली बार नहीं लगा है अधिकारी पर अभद्रता का आरोप

जलदाय विभाग के अधिकारी गोविंद प्रसाद जांगिड़ पर कई बार अभद्रता करने का आरोप लग चुका है। कुछ दिन पूर्व ही भाजपा नेता राजेन्द्रसिंह छाजुसर ने सांसद राहुल कस्वां को ज्ञापन प्रेषित कर काकलासर ग्राम पंचायत के गांवों में चल रही पानी की समस्या की ओर ध्यान आकर्षित कराया। उन्होंने ज्ञापन मेंं लिखा कि जब आपणी योजना के एक्सईएन के पास जाते है तो दुव्र्यवहार करता है तथा राजकार्य में बाधा पहुंचाने का मुकदमा दर्ज कराने की धमकी देता है। इस अधिकारी पर कई दफा भ्रष्टाचार के भी गंभीीर आरोप लग चुके हैं।