राजधानी जयपुर में अपनाया जा रहा भिक्षावृत्ति का अनोखा तरीकापूर्ण रूप से शरीर में सही व्यक्ति भीख मांगने के लिए एक हाथ छुपा कर बंद रहा था दिव्यांगएडवोकेट तेजपाल कुलरिया की पड़ताल तो सामने आया कि शरीर में पूर्ण रूप से सही व्यक्ति बन रहा था फर्जी दिव्यांग और मांग रहा था भीख लोगों से आया था पैसेराजस्थानी जयपुर में इन दिनों हर सड़क पर चौराहों पर खुले में लोग भीख मांगते नजर आ रहे हैं जिनमें अधिकतर लोग दिव्यांग नजर आते हैं इसी क्रम में राजधानी जयपुर के 14 नंबर बाईपास की अगर बात करें तो यहां फर्जी दिव्यांग भी नजर आने लगे हैं एक व्यक्ति जिसने अपने शरीर पर हाथ अंदर डाल रखा है और अपने आप को दिव्यांग बता कर लोगों को लूटता नजर आ रहा है इसी की पड़ताल जब एडवोकेट तेजपाल ने की तो तो सामने आया कि व्यक्ति ने अपना दूसरा हाथ दूसरी साइड से छुपा रखा है और लोगों को दिव्यांग बताकर पैसे 8 रहा है आपको बता दें कि जयपुर में भीख मांगना एक अपराध की श्रेणी में आता है हमें बीच नहीं सीख देनी चाहिए हालांकि राजस्थान सरकार भी यही काफी है लगा रही है कि किसी भी चौराहों पर कोई भी व्यक्ति भीख नहीं मांगी