अलवर एसीबी मुख्यालय के निर्देश पर अलवर प्रथम इकाई द्वारा गुरूवार को अलवर में कार्यवाही करते हुये आतुर गौड़ कनिष्ठ अभियन्ता जयपुर डिस्कॉम, मालाखेड़ा, अलवर को परिवादी से 10 हजार रुपये रिश्वत्त राशि लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि एसीबी. की अलवर प्रथम इकाई को परिवादी द्वारा शिकायत दी गई कि उसके कृषि कनेक्शन को नया ट्रासफार्मर जारी करने एवं विद्युत बिल की राशि कम करने की एवज में आतुर गौड़ कनिष्ठ अभियन्ता, जयपुर डिस्काम, मालाखेड़ा अलवर द्वारा 10 हजार रुपये रिश्वत्त राशि मांग कर परेशान किया जा रहा है। जिस पर एसीबी जयपुर अलवर प्रथम इकाई के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय सिंह के नेतृत्व में शिकायत का सत्यापन किया जाकर आज उप अधीक्षक पुलिस महेन्द्र कुमार एवं उनकी टीम द्वारा ट्रेप कार्यवाही करते हुये आतुर गौड पुत्र स्व श्री गेन्दालाल गौड़ निवासी 155, रघुनंदन बिहार कॉलोनी, जगतपुरा जयपुर हाल कनिष्ठ अभियन्ता जयपुर डिस्कॉम, मालाखेड़ा, अलवर को परिवादी से 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है।एसीबी के अतिरिक्त महानिदेशक दिनेश एम.एन. के निर्देशन में आरोपी के आवास एवं अन्य ठिकानों की एसीबी टीमों द्वारा तलाशी जारी है। एसीबी द्वारा मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अन्तर्गत प्रकरण दर्ज कर अग्रिम अनुसधान किया जायेगा। एसीबी महानिदेशक, भगवान लाल सोनी ने समस्त प्रदेशवासियों से अपील की है कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टोल-फ्री हैल्पलाईन न॑ 1084 एवं हैल्पलाईन ने 94135-02834 पर 2457 सम्पर्क कर भ्रष्टाचार के विरुद्ध अभियान में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें एसीबी आपके वैध कार्य को करवाने में पूरी मदद करेगी। विदित रहे कि एसीबी राजस्थान राज्य में राज्य कर्मियों के साथ साथ केन्द्र सरकार के कार्मिकों के विरूद्ध भी कार्यवाही करने को अधिकृत है।