जमीनी विवाद को लेकर पुजारी को जलाया पेट्रोल डालकर, मुख्य आरोपी आया पुलिस की गिरफ्त में अन्य की तलाश जारी

0
18

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। प्रदेश में प्रतिदिन आपराधिक मामलें बढ़ते ही जा रहे है। प्रदेश की सरकार इन पर अंकुश लगाने में सफल नहीं हो पा रही है। इसी बीच हाल ही में करौली जिले के सपोटरा से एक बड़ा दिल दहलाना वाला मामला सामने आ रहा है।

जानकारी के अनुसार करौली जिले में राधा गोविन्द मंदिर के पुजारी बाबूलाल वैष्णव को एक भू-माफिया और उसके साथियों ने गुरूवार को जिन्दा जला दिया। पुजारी को इस घटना के बाद जयपुर के एसएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन ईलाज के दौरान आग से बुरी तरह झुलसे पुजारी ने दम तोड़ दिया।

हालांकि बता दें कि पुजारी पर पेट्रोल जलाने के मामले में पुलिस द्वारा मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं अन्य आरोपी की तलाश में पुलिस जुटी है। गौरतलब है कि आरोपियों ने पुजारी के साथ जमीनी विवाद के चलते उन पर पेट्रोल छिड़क आग लगा दी है। पुलिस ने बताया कि पुजारी ने पर्चा बयान में बताया था कि उसका परिवार करीब 15 बीघा मंदिर माफी जमीन पर खेती करता था। लेकिन, आरोपी शंकर, कैलाश और नमो मीणा ने उसके बाड़े पर कब्जा कर लिया। इसके बाद पंच-पटेलों ने मामले में हस्तक्षेप करते हुए मंदिर की जमीन पर किसी और को क्षेत्रों पर कब्जा ना करने का फरमान दिया। जिसके बाद बुधवार को आरोपियों ने मंदिर की जमीन पर कब्जा कर छप्पर तानना शुरू कर दिया। पुलिस ने अलग-अलग टीम बनाकर अन्य आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

पुजारी की मौत के अब मामला तूल पकड़ता जा रहा है। घटना को लेकर सपोटरा क्षेत्रवासियों में सपोटरा थाना पुलिस के प्रति आक्रोश है।