जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण को भोग लगने वाली पंजीरी के सेवन से होते है कई शारीरिक चमत्कारी लाभ, जानिए

0
397

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। आज पूरा देश कन्हैया के रंग में रंगा हुआ है। बता दें कि देशभर में आज श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व मनाया जा रहा है। लेकिन इस बार का जन्माष्टमी पर्व कोरोना के कारण घरों पर ही मनाया जाएगा। मंदिरों में इस बार भक्त अपने प्रभू की झलक नहीं पा सकेंगे। कोरोना के कारण लोग घरों में ही अपने प्रभू का जन्म कराने को आतूर है। घरों में ही अपने प्रभू की तैयारी के लिए प्रभू का भोग, सजावट आदि की जा रही है। इसी बीच बता दें कि कान्हा को धनिये की पंजीरी का भी भोग लगाया जाता है। इसी बीच बता दें कि धनिये की पंजीरी स्वास्थय के लिए भी बहुत लाभदायक है। आज हम आपको धनिए की पंजीरी खाने के फायदों के बारें में बताने जा रहे है। तो आइए नजर डालिए…

अगर आप मस्तिक की समस्या से परेशान है तो आपके लिए धनिए की पंजीरी काफी फायदेमंद हो सकती है। इसमें पाए जाने वाले तत्व मस्तिक को शीतलता प्रदान करते है। धनिए की पंजीरी में मिश्री के छोटे छोटे टुकड़े मिलाकर खाना काफी फायदेमंद है। साथ ही आज के समय कई लोग जोड़ों के दर्द, गठिया से काफी परेशान नजर आते है। ऐसे में गठिया रोगियों के लिए धनिया पंजीरी बहुत ही फायदेमंद है। अगर आप नियमित रूप से धनिया पंजीरी का सेवन करते हैं, तो आपको जल्द ही गठिया के साथ जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।

साथ ही आज के समय में कई लोग आंखों की रोशनी से भी काफी परेशान रहते है। ऐसे में अगर आप प्रतिदिन पंजीरी का सेवन करते हो तो आपकी आंखों की रोशनी बढ़ने लगती है।
आंखों के लिए यह बेहद फायदेमंद है। इसके अलावा अगर आप कफ एवं वात से परेशान है तो पंजीरी के नियमित सेवन से ये दोष आगे नहीं बढ़ता है।