चाकसू में शनिवार को कोरोना विस्फोट हो गया जिसके चलते यंहा एक साथ 35 लोगों के पॉजिटिव आने से अफरा -तफरी मच गई है ।ज्यादा चिंता उन लोगो की बढ़ गयी जिन्होंने बीमारी के दौरान सेटेलाइट अस्पताल में उपचार लिया था और कोरोना की वेक्सीन लग वाई थी क्योंकि 35 लोगो मे 22 लोग जो पॉजिटिव आये है वो यंहा सेटेलाइट अस्पताल का स्टाफ़ है जिनमे डॉक्टर से लेकर फार्मिस्ट , मैल नर्स ,सफाई कर्मी व कोरोना की वेक्सीन लगाने वाली नर्स है । गौरतलब है कि इन दिनों सेटेलाइट अस्पताल का रोजाना का आउट डोर 800 से 1000 रोगियों का है चिन्ता का विषय यह है कि इतने रोगियों को 22 स्टाफ से किसी ना किसी तरह का सम्पर्क रहा है यदी मामला बिगड़ा तो पाजिटिव के प्रकरण सेकड़ो की तादाद में आना हो सकता है । 2 दिनों में सेटेलाइट अस्पताल में उपचार कराने वाले लोगो ने ज्योही यह खबर सुनी तो उनमें कही लोगो मे भय फेल गया और कई लोगो ने परिवार की सुरक्षा को लेकर घरो पर ही आइलोशन कर लिया है । ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सौम्य पंडित ने जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार को 50 लोगो की सेम्पल ली गई थी जिन्हें जयपुर आरयूएचएस भेजा गया जिनकी रिपॉर्ट शनिवार को आयी इनमे 22 सेटेलाइट अस्पताल का स्टाफ व 13 लोग आस -पास के ग्रामीण है । सौम्य पंडित के अनुसार जिन लोगो की पॉजिटिव रिपॉर्ट आयी उनमे किसी भी बीमारी के लक्षण नही थे एक साथ 22 स्टाफ की पॉजिटिव की खबर गले नही उतर रही है सन्तुष्टि के लिये शनिवार को दुबारा सेम्पल लेकर जांच के लिये सवाई मानसिंह अस्पताल भेजे गए है ।