जयपुर|Mahima Jain:प्रदेश में लगातार बढ़ रही लूट -पाट की वारदाते अब चिंता का विषय बन चुकी है और इससे साफ़ साबित होता है की लोगो में कानून का डर नहीं रहा है लोग बेखौफ होकर लूट हत्या जैसी वारदातों को अंजाम दे रहे है कोटड़ी-सिमारला गांव में मंगलवार देर शाम व्यापारी के घर लूट के लिए घुसे बदमाशों ने सास और बहू पर हमला कर दिया। हमले में घायल सास और बहू की मौत हो गई। जयपुर रैफर किए जाने के बाद रास्ते में बहू संतोष देवी की मौत हो गई। देर रात जयपुर में इलाज के दौरान संतोष की सास रामेश्वरी देवी ने भी दम तोड़ दिया। पुलिस के अनुसार व्यापारी पूरणमल कुमावत हार्डवेयर की दुकान बंद कर शाम पौने सात बजे जब घर पहुंचा तो बाहर से ताला लगा था।

images 6

पूरणमल ने बताया कि उसकी पत्नी और मां सुरक्षा के लिए मकान के बाहर भी ताला लगा कर रखती थी। अंदर से जब पत्नी और मां का जवाब नहीं मिला तो वह पड़ोसी को बुलाकर लाया। अंदर जाकर देखा तो बैठक के गेट पर मां रामेश्वरी देवी लहू-लुहान और बेहोश थी। बैठक के अंदर पत्नी संतोष भी इसी हालत में मिली। दोनों को लेकर वे लोग श्रीमाधोपुर सीएचसी पहुंचे, जहां से उन्हें जयपुर रैफर कर दिया।लूट की वारदात को रैकी कर अंजाम दिया गया है।

वारदात को महज 15 मिनट में अंजाम दिया

हमलावरों ने वारदात को महज 15 मिनट में अंजाम दिया है, क्योंकि शाम को साढ़े छह बजे संतोष देवी की अपने भाई महेश से फोन पर बात हुई थी। उस समय तक सब ठीक था। पौने सात बजे पूरणमल अपने घर पहुंच गया था।पूरणमल का एक बेटा राजेश कोल्हापुर में टाइल्स का काम करता है। छोटा बेटा विकेश सॉफ्टवेयर इंजीनियर है और एक दिसंबर को उसकी शादी थी। शादी के बाद वह भी सूरत चला गया था।

विकेश की शादी से पहले रामेश्वरी देवी गांव में पुराने मकान में रहती थी। संतोष देवी अपने ननिहाल शादी से 12 दिसंबर को ही लौटी थी, तब से सास यही रह रही हैं।घटना के बाद मौके पर नीमकाथाना एएसपी रतनलाल भार्गव, सीओ नीमकाथाना गिरधारीलाल शर्मा सहित एसपी कुंवर राष्ट्रदीप भी पहुंचे। एसपी ने बताया कि रैकी कर लूट को अंजाम दिया गया है। पुलिस लुटेरों की तलाश कर रही है।